मेरा भाई मेरा सब कुछ है उन पर कोई मुसीबत आने से पहले उसे मुझसे होकर गुजरना पड़ेगा: तेजप्रताप

0
724

पटना: राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के बड़े पुत्र तेज प्रताप अपने पटना आवास से पिछले एक हफ्ते से दूर हैं। तेज प्रताप ने मीडियाकर्मियों को फोन कर कहा कि तेजस्वी उनका अर्जुन है और कृष्ण के रूप में वह हमेशा उसकी रक्षा करेंगे।

तेजप्रताप ने कहा कि तेजस्वी पर कोई मुसीबत आने से पहले उसे मुझसे होकर गुजरना पड़ेगा। बताया कि वह आज (शुक्रवार) हरिद्वार आ गए हैं। कहा कि अगर परिवार के लोग उनकी बात मान लेते हैं तो वह घर वापस आने को तैयार हैं, पर इससे पहले विपिन, नागमणि और ओमप्रकाश को घर से दूर करना होगा। एक बार फिर आरोप लगाया है कि ये सब घर में लड़वाने का काम करते हैं। पार्टी की छवि खराब करते हैं। जब तक ऐसे लोग घर में रहेंगे तब तक वे घर नहीं लौटेंगे। पार्टी इन लोगों पर तत्काल फैसला ले। उल्लेखनीय है कि विपिन तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय के पीए हैं जबकि नागमणि और ओमप्रकाश राबड़ी देवी के रिश्तेदार हैं।

यह भी पढेंतलाक पर तेज प्रताप ने तोड़ी चुप्पी, कहा मैं घुट-घुट कर नहीं जी सकता, इसका कोई फायदा नहीं

 

तेजस्वी प्रसाद को बधाई देने शुक्रवार को राजद के सैकड़ों कार्यकर्ता व नेता पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास 10, सर्कुलर रोड पर पहुंचे। चूंकि तेजस्वी यादव दिल्ली में हैं, इसलिए उनकी माता राबड़ी देवी को बधाई दी। विधायक भोला यादव ने कहा कि युवा कार्यकर्ताओं ने तेजस्वी को शुभकामनाएं और वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें आशीर्वाद दिया है। उधर, फतुहा के गोविंदपुर में भी तेजस्वी यादव का 29 वां जन्मदिन मनाया गया।

अपनी पत्नी से नाराज चल रहे तेजप्रताप ने कहा कि उनके पास कोई विकल्प नहीं था, इसलिए घर से बाहर आ गए। कहा कि माता-पिता के चरणों में उनका सम्पूर्ण तीर्थ है, पर उन्हें भी हमारी बात समझनी होगी। माता-पिता साथ नहीं दे रहे हैं। उनको सारी बात समझनी चाहिए और मेरा साथ देना चाहिए। तेजप्रताप ने दोहराया कि वे ऐश्वर्या से तलाक लेने का अपना फैसला नहीं बदलेंगे। उनका और ऐश्वर्या का कोई मेल नहीं हैं। ऐश्वर्या सिर्फ मीठी मीठी बातें कर रही हैं। वे किसी भी कीमत पर उसके साथ नहीं रहेंगे। उधर, सूत्रों के अनुसार परिवार के कुछ लोग तेजप्रताप को मनाने उनके पास गए हैं।

 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here