इज़राइल द्वारा फिलिस्तीन के कब्जे को खत्म करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रस्ताव पास

0
538

संयुक्त राष्ट्र महासभा के मौजूदा अध्यक्ष मारिया एस्पिनोसा ने एक बयान में कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने फिलिस्तीनी क्षेत्रों के इजरायली कब्जे को समाप्त करने के लिए एक प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया है। एस्पिनोसा ने गुरुवार को कहा, “वोट का नतीजा निम्नानुसार है: 156 पक्ष में, छह खिलाफ हैं, 12 अनुपस्थित हैं,” उन्होने कहा की “मसौदा प्रस्ताव को अपना लिया गया है।”

आयरलैंड द्वारा प्रायोजित मध्य पूर्व प्रस्ताव में व्यापक रूप से स्थायी शांति के लिए इजरायल द्वारा फिलिस्तीनी क्षेत्रों के कब्जे को खत्म करने का आग्रह करती है और दो राज्य समाधान के लिए इसके समर्थन की पुष्टि करती है। संयुक्त राज्य अमेरिका और इज़राइल के अलावा ऑस्ट्रेलिया, लाइबेरिया, मार्शल द्वीप समूह और नौरू प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के मौजूदा अध्यक्ष मारिया एस्पिनोसा ने एक बयान में कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने फिलिस्तीनी क्षेत्रों के इजरायली कब्जे को समाप्त करने के लिए एक प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया है। एस्पिनोसा ने गुरुवार को कहा, “वोट का नतीजा निम्नानुसार है: 156 पक्ष में, छह खिलाफ हैं, 12 अनुपस्थित हैं,” उन्होने कहा की “मसौदा प्रस्ताव को अपना लिया गया है।”

आयरलैंड द्वारा प्रायोजित मध्य पूर्व प्रस्ताव में व्यापक रूप से स्थायी शांति के लिए इजरायल द्वारा फिलिस्तीनी क्षेत्रों के कब्जे को खत्म करने का आग्रह करती है और दो राज्य समाधान के लिए इसके समर्थन की पुष्टि करती है। संयुक्त राज्य अमेरिका और इज़राइल के अलावा ऑस्ट्रेलिया, लाइबेरिया, मार्शल द्वीप समूह और नौरू प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया।

 

दशकों से, फिलिस्तीन इजरायली सरकार के साथ संघर्ष कर रहा है। नवंबर में, गाजा पट्टी सीमा के पास इज़राइल सैनिकों के साथ संघर्ष में कम से कम 40 फिलिस्तीनी घायल हो गए थे। 1967 से, इज़राइल पूर्वी यरूशलेम और गाजा पट्टी सहित वेस्ट बैंक के फिलिस्तीनी क्षेत्रों पर कब्जा कर रहा है, और फिलिस्तीन को एक स्वतंत्र राजनीतिक और राजनयिक राज्य के रूप में पहचानने से इंकार कर दिया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here