जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग करने पर राज्यपाल सत्यपाल ने कहा- मेरा तबादला किया जा सकता है

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बुधवार को आशंका जताई कि उनका जम्मू-कश्मीर से तबादला किया जा सकता है। ये बात उन्होंने विधानसभा भंग करने पर दी गई अपनी सफाई के बाद कही है। मलिक ने मंगलवार को कहा था कि अगर वे दिल्ली की ओर देखते तो सज्जाद लोन की सरकार बनानी पड़ती। मलिक ने 21 नवंबर को रात नौ बजे जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग कर दी थी।

कांग्रेस नेता गिरधारी लाल डोगरा की पुण्यतिथि के मौके पर एक कार्यक्रम में मलिक ने कहा- मैं जब तक यहां हूं, तभी तक हूं। ये मेरे हाथ में नहीं है। मेरा तबादला किए जाने की आशंका है। मुझे नहीं पता कि मेरा तबादला कब कर दिया जाएगा। मेरी नौकरी नहीं जाएगी। मैं जब तक यहां हूं, आपको भरोसा दिलाता हूं कि जब भी आप मुझे बुलाएंगे तो मैं आऊंगा।

मंगलवार को ग्वालियर में एक कार्यक्रम के दौरान मलिक ने कहा था- सज्जाद लोन और भाजपा का गठबंधन भी था। वे कह रहे थे कि हमारे पास संख्या है। सज्जाद लोन ने कहा कि उन्होंने भी मेरे पीए को वॉट्सऐप किया था। सरकार बनाने के दावे वॉट्सऐप पर पेश नहीं किए जाते। मैं आश्वस्त था कि किसी के पास संख्या नहीं है। अगर एक को भी मौका दिया तो हॉर्स ट्रेडिंग शुरू हो जाएगी। 

उन्होंने कहा था कि एक बात साफ कर दूं कि अगर मैं दिल्ली की तरफ देखता तो सज्जाद लोन की सरकार बनानी पड़ती। इतिहास में मुझे बेइमान इंसान करार दिया जाता। जिन्हें गाली देनी है, वे देंगे, लेकिन मैं कन्विंस हूं कि मैंने सही काम किया।

आप भी अपना लेख और विज्ञापन इस मेल jjpnewsdesk@gmail.com पर भेज सकते हैं

loading...