चीन के अड़ंगे पर ओवैसी ने मोदी को लताड़ा कहा 630 करोड़ का ऑर्डर चीन को क्यों दिया

नई दिल्ली: चीन हमेशा भारत के खिलाफ हर स्तर पर विरोध करता है,जिसके कई बार भारत के लिये बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ा है,भारत चीन का आर्थिक रूप से बड़ा मददगार ह लेकिन इसके बावजूद भारत के प्रति उसका सलूक अच्छा नही है।

पाकिस्तान के रहने वाले जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख आतंकी मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिये भारत ने संयुक्त राष्ट्र में आग्रह किया था और प्रस्ताव रखा था,जिसके खिलाफ चीन ने वीटो पावर का इस्तेमाल करते हुए मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से बचा लिया है।

हालांकि, भारत ने चीन के इस फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई है। लेकिन, इसके बाद में देश में सियासत शुरू हो गई है। चीन के इस फैसले को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

ऑल इण्डिया मजलिस ऐ इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष बैरिस्टर असदउद्दीन ओवैसी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा निशाना साधा है,और चीन की कड़े शब्दों में तीखी आलोचना करी है।

ओवैसी ने केन्द्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘झूला कूटनीति’ फेल हो गई। ओवैसी ने कहा कि मोदी की ‘झूला कूटनीति’ क्या खूब रंग लाई है कि चीन ने आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में कोई सहायता नहीं की।

ओवैसी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि चीन ने आतंकी मसूद अजहर को ब्लैकलिस्टेट करने में कोई सहयोग नहीं किया। लेकिन, मोदी सरकार ने बुलेट प्रूफ जैकेट खरीदने के लिए चीन को 630 करोड़ का ऑर्डर दिया है। ओवैसी ने कहा कि भारत ने चीन को यह ऑर्डर क्यों दिया, क्या हम किसी और देश को नहीं दे सकते थे? चीन ही क्यों? मोदी को देश को जवाब देना चाहिए। यह नरेंद्र मोदी की ‘झूला कूटनीति’ की विफलता है।

आप भी अपना लेख और विज्ञापन इस मेल jjpnewsdesk@gmail.com पर भेज सकते हैं

loading...