लालू प्रसाद को ABP न्यूज के एंकर ने कहा ललुआ ,सर्मर्थक हुए गुस्सा ,बीच में ही शो बंद

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने ABP न्यूज के एंकर अनुराग मुस्कान पर एक चुनावी बहस के दौरान बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के खिलाफ जातिसूचक शब्द कहने का आरोप लगाया है। राजद ने एबीपी न्यूज का एक वीडियो ट्वीट कर आरोप लगाया है कि बहस के दौरान चैनल के एंकर ने पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद को ‘लालुआ’ कहकर संबोधित किया। बाद में एंकर अनुराग मुस्कान ने ट्वीट कर खेद व्यक्त किया है।

राष्ट्रीय जनता दल के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शनिवार (13 अप्रैल) को एबीपी न्यूज के कार्यक्रम का एक वीडियो ट्वीट कर लिखा गया, “चैनल ABP के पत्रकार अनुराग मुस्कान ने अकारण अपनी जातिवादी सोच के कारण लालू जी को जातिसूचक, हेयसूचक “ललुआ” कहा! पत्रकारिता धर्म का निर्वाह हो! पत्रकारिता निम्नतम स्तर पर पहुंच चुकी है!
जिस जातिवाद के विरुद्ध, दलित पिछड़ों के सम्मान की लालू जी ने जंग लड़ी वह जंग आज भी जारी है!”

राजद ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, “यह सम्बोधन बिहार के अभिजात वर्ग के नेताओं या नीतीश जैसे सामंती मानसिकता के पोषक नेतागण के लिए नहीं होता है, दलित पिछड़ा उत्थान व आरक्षण की बात करने वाले लालू प्रसाद यादव या कर्पूरी ठाकुर जैसे पिछड़े दलित नेताओं के लिए ही योग्य माना जाता है!”

राजद के ट्वीट के बाद एबीपी न्यूज के एंकर अनुराग मुस्कान ने खेद व्यक्त किया है। मुस्कान ने राजद के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “कई दिनों से बिहार में हूं और यहां लोगों के मुंह से लालू जी के लिए लाड़ और प्यार से अक्सर ये संबोधन सुना। मैंने लाइव डिबेट में इस संबोधन पर आपत्ति जताए जाने के बाद अपने स्पष्टिकरण में भी यही कहा लेकिन फिर भी अगर इस शब्द से किसी की भावनाओं को ठेस पंहुची हो तो मुझे बेहुद खेद है।

एंकर के इस पर एक बार फिर पटलवार करते हुए राजद ने ट्वीट कर लिखा, “ये लाड़-प्यार उच्च वर्गों का कटाक्ष है। दलितों, पिछड़ों, अतिपिछड़ों, अल्पसंख्यकों और अगड़ों में जो ग़रीब है उनके लिए लालू जी भगवान समान है जो आप नहीं समझ सकते लेकिन जब लोग चढ़े तो पहचाने। क्या आपने लालू जी को अपनी गोद में खिलाया है जो ऐसी बेशर्मी से उन्हें संबोधित कर रहे थे?”

loading...

आप भी अपना लेख और विज्ञापन इस मेल jjpnewsdesk@gmail.com पर भेज सकते हैं