21 वर्षीय मुस्लिम युवक जुनैद को फरीदाबाद पुलिस ने बुरी तरह पीटा, आखिर कार जुनैद ने दम तोड़ दिया

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

हरियाणा: फरीदाबाद में शुक्रवार को पुलिस वजह कथित रूप से प्रताड़ित किए जाने के कुछ दिनों बाद एक 21 वर्षीय मुस्लिम युवक जुनैद की मौत हो गई।

क्लेरियन इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मेवात के जमालगढ़ के रहने वाले जुनैद की कथित तौर पर पुलिस कर्मियों – राजेश, सुरजीत, नरेश, नरेंद्र, दलवीर, जावेद और बसंत द्वारा दी गई गंभीर चोटों के कारण जुनैद की मौत हो गई।

जुनैद के परिवार ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है॥ जनाज़ा को लेकर लगभग पूरे गांव ने होडल हाईवे को जाम भी किया। प्रदर्शनकारियों ने कथित तौर पर एक पुलिस वाहन को भी आग के हवाले कर दिया।

जुनैद की मां खदीजा ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उसके परिवार से 70,000 रुपये की रिश्वत भी ली, मुस्लिम विरोधी गालियों का इस्तेमाल किया, जुनैद और उसके साथियों को कोरे कागज पर हस्ताक्षर करने को कहा, और परिवार को उनके खिलाफ कानूनी शिकायत दर्ज नहीं करने की धमकी दी।

उसकी मां ने कहा, एक पुलिस अधिकारी ने कथित तौर पर जुनैद के भाइयों से कहा, अगर आप शिकायत दर्ज करते हैं, तो मैं आपके पूरे परिवार का हाल जुनैद से जैसा कर दूंगा।

जुनैद को 31 मई को फरीदाबाद साइबर सेल ने हिरासत में लिया था, जब वह एक रिश्तेदार की शादी से लौट रहा था। जुनैद और उसके अन्य साथियों के सुनहारा सीमा पार करने के बाद, पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया और थाने ले गई जहां उन्हें बेरहमी से पीटा किया गया।

परिवार ने आरोप लगाया कि उसे बिना किसी प्राथमिकी के अवैध रूप से उठाया गया और हिरासत में लिया गया और बाद में फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 1 जून को जुनैद के भाई- इरशाद और आजाद उसकी रिहाई की मांग को लेकर थाने पहुंचे।

जुनैद के भतीजे सद्दाम ने कहा, पुलिस ने 70,000 रुपये की रिश्वत लेकर उसे जाने दिया। हालांकि, 5 जून को पुलिस ने इरशाद और आजाद को हिरासत में ले लिया।

जुनैद के घर आने के बाद नजदीकी अस्पताल में उसका इलाज कराया गया। हालांकि, 8 दिन बाद 11 जून को रात 9 बजे उसकी मौत हो गई।जुनैद की मां खदीजा एक विधवा है, उनके तीन बेटे हैं- एक वह पुलिस की यातना में हार गई जबकि अन्य दो पुलिस की हिरासत में हैं।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...