महिला सशक्तिकरण की बात करने वाली स्मृति पर भडकी अलका, कहा- लखीमपुर की घटना पर चुप क्यों हो मैडम !

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

उत्तर प्रदेश में इन दिनों ब्लॉक प्रमुख का चुनाव चल रहा है। इन चुनावों में बीजेपी पर आरोप लग रहे हैं कि भाजपा सत्ता का दुरुपयोग कर ब्लॉक प्रमुखी के पद कब्ज़ा रही है। इससे पहले जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भी ऐसा ही देखने को मिला था। ब्लॉक प्रमुखी के चुनाव में कहीं पर प्रत्याशियों का अपह्रण किया गया है तो कहीं पर प्रतिद्वंदी प्रत्याशी को नामांकन ही नहीं करने दिया गया। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में दो महिला प्रत्याशियों के साथ बदसलूकी का मामला भी सामने आया है।

@smritiirani , @narendramodi , @myogiadityanath
लखीमपुर में नामांकन करने जातीं सपा प्रत्याशी की साड़ी खींचे जाने के बाद आज फिर ऐसा ही मामला देखने को मिला है। अनीता यादव की साड़ी उतारी गई, वहीं ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी ऋतु को नामांकन नही करने दिया गया। इस घटना पर विपक्ष नेताओं का गुस्सा चरम पर पहुंच गया है। कांग्रेस की तेज तर्रार नेता अलका लांबा ने इस घटना पर स्मृति ईरानी को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने कहा कि कॉंग्रेस और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी ने महिलाओं को सम्मान दिया,महिलाओं को पंचायतों में बराबरी का अधिकार दिया, भाजपा और मोदी-योगी राज में उन्हीं महिलाओं का चीरहरण हुआ, क्या यह है RSS की महिला सशक्तीकरण, महिला मंत्री ईरानी तेरी चुप्पी की क्या मज़बूरी है?

एक के बाद एक किए गए ट्वीट में अलका ने कहा कि सरकार को क़ानूनी तौर पर महिलाओं को अपनी सुरक्षा के लिए हथियार मुहैया करवाने चाहिये, नहीं तो अपनी चूड़ियों के काँच से इन राक्षसों को लहू-लुहान करना सीखना होगा. अंचल पर आँच ना आने देना. उन्होंने विपक्ष के नेताओं से आह्वान किया कि यूपी में विपक्षी दलों के नेता-कार्यकर्ता कुछ गलत या गैरकानूनी काम करे,ऐेसे में भाजपा सत्ता में है,जब चाहे विपक्ष के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्यवाही कर सकती है,लेकिन जब सत्ताधारी बीजेपी के नेता ही हमारी बहनों की इज्जत पर हाथ डालने लगें तो ऐेसे में सबको राजनीति से ऊपर उठकर आवाज़ उठानी चाहिए.
@INCUttarPradesh

पूर्व विधायक अलका लांबा ने केंद्रीय मंत्रीमंडल में शामिल महिलाओं की तस्वीर पोस्ट करते हुए भी तंज कशा है। उन्होंने कहा कि कल तक चूडियां भेट करने वालीं भाजपा की यह नेत्रियां लगता है मंत्री पद की शपथ लेने से पहले अपनी भी चूडियां घर छोड़ आईं हैं,आज पहले इन्हें चूडियां भेट करने की ज़रूरत है ताकि कुछ हिम्मत दिखा पाएं,अपनी बंद जुबान खोल पायें, वर्ना इन सब मात्र सांकेतिक बदलावों से कुछ बदलने नहीं वाला है.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...