अमित शाह के चिरंजीव मुनाफा कमाने की कला सीखने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में घुस गए,लेकिन भक्तगण

राजेंद्र चतुर्वेदी

श्री अमित शाह के चिरंजीव अपनी कंपनी के माध्यम से तीन हजार प्रतिशत का मुनाफा कमाने की कला सीखने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में घुस गए.श्री राजनाथ सिंह के चिरंजीव विधायक बन गए. श्री नितिन गडकरी के चिरंजीव ने अपने पिता का कारोबार ठीक से संभाल लिया है.

हिन्दू वाद की राजनीति करने वालों की औलादों के विकास के ऐसे दर्जनों उदाहरण दिए जा सकते हैं.दूसरी तरफ जब अपन किसी शर्मा जी, किसी मिश्रा जी, किसी दुबे जी आदि इत्यादि के लड़कों को ट्रोल बना हुआ देखते हैं, तो दुख होता है.पता ये भी नहीं कि इन्हें ट्रोलिंग के बदले में कुछ मिल भी रहा है या नहीं या फोकट में ही मंजीरे बजा रहे हैं.

अगर ये सात साढ़े सात रुपए प्रति पोस्ट की दर से पोस्ट करने वालों में शामिल हैं, अगर ये दो सवा दो रुपए प्रति ट्वीट की दर से ट्वीट करने वालों में शामिल हैं, तो फिर इनका हिंदुत्व कुछ हद तक चल जाएगा.लेकिन इस सूरते हाल में इन्हें इनबॉक्स में आकर हमारी चिंता दूर करनी चाहिए. कई ट्रोल हमारी यह चिंता दूर कर भी चुके हैं.चाहे हमें कोई जातिवादी ही क्यों न कह दे, लेकिन हे ब्राह्मण कुमार अगर तुम मुफ्त में ट्रोलिंग का कार्य कर रहे हो तो हम तुम्हारे लिए चिंतित हैं.

(ये उनके अपने विचार हैं )

ये खबर जानकारी के लिए
बीसीसीआई के बुधवार को हुए चुनावों में आधिकारिक तौर पर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह को सचिव नियुक्त किया गया है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...