नरेंद्र गिरि मामले में गिरफ्तार आनंद गिरि पर एक और महंत ने लगाए गंभीर आरोप, बताया हिस्ट्रीशीटर

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

नखनऊ: यूपी के प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत पर सवाल खड़े हो रहे हैं. अपने सुसाइड नोट में नरेंद्र गिरि ने जिस आनंद गिरि पर सवाल खड़े किए थे, उसे उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन अब एक और महंत ने इस आनंद गिरि पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

यूपी के नोएडा में ब्रह्मचारी कुटि के स्वामी ओम भारती ने आनंद गिरि को लेकर खुलासा किया है… स्वामी ओम भारती ने एक न्यूज़ चैनल को बताया कि आनंद गिरि एक हिस्ट्रीशीटर है, लॉकडाउन के दौरान उसने नोएडा की सेक्टर 82 में मौजूद ब्रह्मचारी कुटि पर कब्जा करने की कोशिश की थी.

स्वामी ओम भारती के मुताबिक, तब आनंद गिरि ने खुद को प्रथम महंत बताया था. उन्होंने इस मामले में केस कराने की कोशिश की थी, लेकिन किसी ने केस दर्ज नहीं की थी. इसके बाद स्वामी ओम भारती ने अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि से संपर्क किया था और तब जाकर आनंद गिरि ने अपना दावा वापस लिया था.

सुसाइड नोट में था आनंद गिरि का नाम

गौरतलब है कि महंत नरेंद्र गिरि के कमरे से जो सुसाइड नोट मिला है, उसमें आनंद गिरि का नाम था. आनंद गिरि पर नरेंद्र गिरि ने मानसिक तौर पर पीड़ित करने के आरोप लगाए थे… इसी आधार पर पुलिस ने आनंद गिरि को पहले हिरासत में लिया और बाद में गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़े: महंत नरेंद्र गिरि ने मौत से पहले लिखा था छह पन्नों का सुसाइड नोट, इन बातों का किया है जिक्र

इतना ही नहीं अब नरेंद्र गिरि और आनंद गिरि के बीच मई महीने में हुए एक समझौते के तीन चश्मदीदों गवाह से भी यूपी पुलिस पूछताछ करने की तैयारी में है. इस मुलाकात में दो नेता और एक अफसर मौजूद थे.

हालांकि, गिरफ्तार करने से पहले आनंद गिरि ने महंत नरेंद्र गिरि को मौत को आत्महत्या की बजाय हत्या करार दिया था. आनंद गिरि का आरोप था कि संपत्ति विवाद को लेकर ये सब किया जा सकता है, जिसकी जांच की जानी जरूरी है…

यह भी पढ़े:कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद कांग्रेस की वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी ने पंजाब की अगली CM बनने की प्रस्ताव को ठुकरा !

 

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...