बिस्मिल्लाह खां पुरस्कार के लिए चुनी गईं गायिका मैथिली ठाकुर , नीतीश कुमार से मिलकर बोली

गायिका मैथिली ठाकुर को बिहार के लोक संगीत में उनके योगदान के लिए वर्ष 2021 के वास्ते संगीत नाटक अकादमी (एसएनए) के प्रतिष्ठित उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार के लिए चुना गया है। मैथिली ठाकुर ने कहा कि इस पुरस्कार से उन्हें बिहार के लोक संगीत के प्रसार की प्रेरणा मिली है। ठाकुर ने कहा, ‘‘मैं जूरी सदस्यों की शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मुझे इस पुरस्कार के लिए चुना। मैं इस घोषणा से अभिभूत हूं।”

उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार की घोषणा के एक दिन बाद ठाकुर ने कहा, ‘‘यह पुरस्कार मुझे एक बड़ी जिम्मेदारी देता है। साथ ही यह मुझे बिहार के लोक संगीत को महाद्वीपों में फैलाने के लिए और अधिक प्रेरणा देता है।” उन्होंने कहा, ‘‘इस सफलता के पीछे बहुत सारे लोग हैं, खासकर वे जिन्होंने मुझे प्रेरित किया। मैं अपने परिवार के सदस्यों, विशेष रूप से अपने पिता और मां की शुक्रगुजार हूं, जो मुझे मेरे जुनून को पूरा करने के लिए समर्थन और प्रेरणा देते रहे हैं। मेरे काम, मेरे परिवार के सदस्यों और मेरे राज्य के लोगों को सम्मानित करने के लिए ज्यूरी सदस्यों का आभार।”

इसी बिच मैथिली ठाकुर ने एक ट्वीट भी किया है आज राजगीर में माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी, जल संसाधन मंत्री श्री संजय झा जी के साथ,ठाकुर ने कहा कि बिहार सरकार ने उन्हें खादी और राज्य के अन्य हस्तशिल्पों के लिए ‘ब्रांड एंबेसडर’ बनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा, ‘‘राज्य सरकार ने मुझे खादी का ब्रांड एंबेसडर बनाने का फैसला किया है। इस संबंध में औपचारिक घोषणा सोमवार या मंगलवार को पटना में की जाएगी।” बिहार में मधुबनी जिले के बेनीपट्टी में जन्मी और मैथिली, भोजपुरी और हिंदी में बिहार के पारंपरिक लोक गीत गाने वाली ठाकुर को उनके दादा और पिता ने मैथिली लोक, हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत में प्रशिक्षित किया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आज जो कुछ भी हूं, अपने पिता और मां की वजह से हूं।”

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...