दिन रात शराब पीने वाली ब्रिटेन की पार्टी गर्ल ने अपनाया इस्लाम

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

इस्लाम एक।ऐसा मज़हब है जिसे जितना दबाने की कोशिश करो वो उतना ही उभरता है देश और दुनियां के कोने कोने से इस्लाम धर्म अपनाने की खबर आती रहती है कुछ दिन पहले सऊदी अरब में ब्रिटेन के राजनयिक ने इस्लाम कबूल किया था । उन्होंने अपने ट्विटर पर खुद इसका खुलासा किया था और मदीना से अपनी तस्वीर भी शेयर की थी ।

एक ऐसा ही वाकिया सामने आया है जिन्होंने इस्लाम के बारे में सारी जानकारी इकट्ठा करने के बाद इस्लाम मज़हब अपना लिया जो कभी काफिर हुआ करती थी आज वो एक मुसलमान है जो रोज़ा ओर।नामज़ पढ़ती है जेद्दाह में ब्रिटिश कौंसुल जनरल अशर ऐसे दूसरे ब्रितानी राजनयिक हैं, जिन्होंने इस्लाम कबूला है। और अब ब्रिटेन में एक पार्टी गर्ल ने अपनी पुरानी जिंदगी छोड़ कर इस्लाम को अपना लिया है। बार में डांस करने वाली महिला ने अपनी पहली जिंदगी छोड़ कर इस्लाम क़ुबूल कर लिया है ब्रिटेन समाचार एजेंसी बीबीसी से बात करते हुए पर्सीफून ने कहा की मैं इस्लाम अपनाने के बाद बहुत ज़्यादा सुकून महसूस कर रही हूँ बीबीसी से बात करते हुए पर्सीफून ने अपनी गुनाहों से भरे जीवन से इस्लाम धर्म अपनाने तक की कहानी सुनाई अपने जीवन की कहानी सुनाते हुए उन्होंने कहा कि अगर मैं मुस्लमान नहीं होती तो कब का अपनी जिंदगी ख़त्म कर चुकी होती .

वह कहती हैं, “मैं उस समय मजहब स्वीकारने पर विचार नहीं कर रही थी। पर, ये एक चुनौती जैसा था। मेरा इगो कह रहा था कि 30 दिन का रोजा, मैं नहीं कर पाऊँग। जब मैंने पहले रोजा रखा मैंने पार्टी करना, शराब पीना नहीं छोड़ा, लेकिन स्वभाव खुद बदल गया। मुझे लगने लगा कि मैं जो हूँ उससे भी कई ज्यादा अच्छी हूँ।”

वे इस कदर बे परवाह ओर गेर जिम्मेदार थी के उन्होंने बताया कि रात भर शराब पीकर रक़्स करते हुए जिंदगी गुज़र रही थी पर्सीफून ने कहा कि इस जीवन से छुटकारा पाने के लिए मैंने काल सेंटर में जॉब की उन्होंने बताया कि जब मैं वहां जॉब कर रही थी तो मेरी मुलाक़ात हलीमा नामी मुस्लिम महिला से हुई जिन्होंने मेरी जिंदगी को बदल कर रख दिया हलीमा हमेशा मुझे दीन की बातें बताती रहती उन्होंने मुझे सीधा रास्ता दिखाया मैं तो भटक चुकी थी किसी और दुनियां में मैंने जीना शुरू कर दिया था लेकिन हलीमा ने मेरे जीवन को बदल कर रख दिया पर्सीफून ने बताया कि मैंने इस्लाम धर्म अपनाने से पहले हलीमा के साथ एक दिन का रोज़ा भी रखा यह एक बेहतरीन रूहानी एहसास था जिसके बाद मैं दीन की तरफ आती चली गई उसके बाद मैंने हिजाब भी पहनना शुरू कर दिया और आज अल्हम्दुलिल्लाह मैं मुस्लमान हूँ। वो बताती है कि उनके माता पिता ईसाई धर्म से ताल्लुक रखते है।

उन्होंने बताया, “मैंने यूनिवर्सिटी में शाहदा (इस्लाम कबूलने के लिए शपथ) ली थी। इसके लिए कोई प्लान नहीं था। मैं अपने सवालों के साथ सैल्फॉर्ड के मस्जिद गई और इमाम ने उसका जवाब दिया। बाद में वह बोले- मेरे पीछे दोहराओ…मैंने भी कहा ठीक है। इसके बाद वह बोले- मुबारक हो! तुम अब मुसलमान बन गई हो! मैं बहुत भावुक हो गई और खुश थी कि आखिरकार ये कर दिखाया।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...