चीन के बुरे दिन शुरू होने वाले है ,G-7 नेताओं से ड्रेगन के बहिष्कार की अपील करेंगे :जो बाइडेन

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

कार्बिस बे: अमेरिका ने शनिवार को जी-7 सम्मेलन में लोकतांत्रिक देशों पर बंधुआ मजदूरी प्रथाओं को लेकर चीन के बहिष्कार का दबाव बनाने की योजना तैयार की है। 2 बेहतर अधिकारियों ने इस बात की जानकारी पत्रकारों को देते हुए कहा कि सभा के दौरान ये देश विकासशील देशों में बीजिंग के कोशिश के साथ मुकाबला करने के लिए एक बुनियादी भवन योजना की भी शुरुआत करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि बाइडेन चाहते हैं कि G-7 के नेता उइगर मुसलमानों और अन्य जातीय अल्पसंख्यकों से बंधुआ मजदूरी कराने के खिलाफ एक स्वर में आवाज उठाएं।

चीन के साथ रिश्ते खराब नहीं करना चाहते यूरोपीय देश

अधिकारियों ने कहा कि बाइडेन को उम्मीद है कि बंधुआ मजदूरी को लेकर शिखर सभा में चीन की आलोचना की जाएगी लेकिन कुछ यूरोपीय संगी बीजिंग के साथ रिश्ते खराब करने के लिए तैयार नहीं हैं। दक्षिण पश्चिम इंग्लैंड के कार्बिस बे में शुक्रवार को शुरू हुआ यह समारोह रविवार को मुकम्मल होगा। G-7 कनाडा, इटली, फ़्रांस, जर्मनी, जापान, ब्रिटेन और अमेरिका का एक समूह है। इस बीच ऐसी खबरें हैं कि अमेरिका और चीन के सर्वोच्च राजनयिकों के बीच तीखी बहस हुई है जिसमें बीजिंग ने बताया कि उसने अमेरिका से कहा है कि वह उसके आंतरिक मामलों में दखलअंदाजी बंद करे। चीन ने साथ ही अमेरिका पर कोरोना महामारी के उत्पत्ति स्थान मामले का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया।

चीन ने वायरस की लैब में उत्पत्ति की बात को बकवास कहा

चीन के वरिष्ठ विदेश नीति मंत्रणाकार यांग जिएची और अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के बीच शुक्रवार को फोन पर बातचीत हुई जिसमें हांगकांग में स्वतंत्रता पर अंकुश, शिंजियाग क्षेत्र में मुसलमानों को बड़े पैमाने पर हिरासत में रखने साहित अनेक मुद्दों पर बातचीत हुई। दरअसल, कोरोना वायरस की उत्पत्ति के स्थान संबंधी जांच की मांग चीन के लिए परेशानी की बात है,क्योंकि ऐसी अफवाहें हैं कि यह प्रयोगशाला में बनाया गया और वहां से वुहान में फैला। यांग ने इन बातों को बकवास बताया और कहा कि चीन इन बातों से बेहद चिंतित है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...