भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन उत्पादक के बावजूद 8 राज्यों में वैक्सीन की कमी हो गई

क्या आपको पता है कि जनता से टीका उत्सव मनाने के लिए क्यों कहा गया है? क्योंकि कम से कम 8 राज्यों में वैक्सीन की कमी हो गई है।
परसों से लेकर कल ओडिशा में 700 वैक्सिनेशन सेंटर बंद हो गए क्योंकि राज्य में वैक्सीन खत्म हो गई। महाराष्ट्र के मुम्बई, सतारा, चंद्रपुर, गोंदिया, पनवेल और सांगली के केंद्र बंद करने पड़े।
महाराष्ट्र, ओडिशा और झारखंड समेत कुछ राज्यों ने कहा है कि उनके पास पर्याप्त वैक्सीन नहीं है। झारखंड ने दो हफ्ते पहले ही मांग की थी। उसे भी कई जगह वैक्सिनेशन रोकना पड़ा।
बुधवार को उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कुल 66 सेंटर्स में से सिर्फ 25 पर ही टीकाकरण हो रहा था. बाकी सेंटर्स को वैक्सीन की कमी के चलते बंद कर दिया गया. गोरखपुर में भी वैक्सीन न होने के चलते टीकाकरण धीमा होने की खबरें हैं। अमर उजाला ने लिखा है कि यहां गुरुवार की शाम तक वैक्सीन नहीं आई थी। शुक्रवार यानी आज संकट और बढ़ सकता है। गाजियाबाद-नोएडा में भी स्टॉक खत्म हो रहा है। यूपी ये कह नहीं रहा है क्योंकि दोनों जगह अपनी ही सरकार है।
छत्तीसगढ़ ने कल एक हफ्ते का एडवांस स्टॉक मांगा है। आज दिल्ली के कई अस्पताल में वैक्सीन खत्म होने या लिमिटेड स्टॉक की खबर है।
तेलंगाना और हरियाणा में भी अब कोरोना वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो रहा है. यहां की सरकारों ने केंद्र से बड़ी मात्रा में वैक्सीन देने की अपील की है.
भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन उत्पादक है। फिर कमी कैसे हुई? क्या सरकार की सब बेच देने की लत आड़े आ रही है? तमाम सवाल उठने के बावजूद वैक्सीन निर्यात नहीं रोका गया।
वैक्सीन की कमी की चर्चा परसों झारखंड और मुम्बई से शुरू हुई। इसके बाद कल 5 राज्यों से खबरें आईं। वैक्सीन सप्लाई की संभावना न देख जनता से कहा गया है उत्सव मनाओ। इस महामारी से अब तक 1 लाख 66 हजार लोग मर चुके हैं। जनता से बार बार कहा जाता है कि उत्सव मनाओ, शंख बजाओ, ताली बजाओ।
ये अमानवीय है। मानवता मौतों पर उत्सव नहीं, शोक मनाती है। अगर एक अक्षम और स्टंटबाज सरकार हो तो ये शोक और ज्यादा बढ़ जाता है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

रहें हर खबर से अपडेट जिसे कोई नहीं दिखाता
loading...