छत्तीसगढ़ भाजपा में भी अनबन, चिंतन शिविर में दिखे नेताओं के बहस, RSS नेता भी हुए गायब

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अंदर चल रही अनबन तो जग जाहिर है लेकिन संकेत ऐसे मिल रहे हैं कि यहां बीजेपी में भी सब ठीक नहीं चल रहा है। जगदलपुर में चल रहे भाजपा के चिंतन शिविर के दौरान नेताओं के बीच की ‘बहस’ सामने आई है। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह और उनके समर्थकों को भी यहां ‘किनारे’ कर दिया गया। बताया जा रहा है कि यह काम पार्टी के वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल और कुछ अन्य पदाधिकारियों ने मिलकर किया है।

इसके अलावा इस बैठक में संघ के भी दो अहम नेता शामिल नहीं हुए। क्षेत्रीय प्रचारक दीपक विस्पुते और प्रांत प्रचारक प्रेम शंकर सिदार ने इस शिविर से किनारा कर लिया। इससे पहले जब भी इस तरह के शिविर का आयोजन होता था तो ये दोनों RSS नेता ज़रूर शामिल होते थे।

15 साल सत्ता में रहने के बाद बीजेपी को छत्तीसगढ़ में हार का सामना करना पड़ा था। अब बीजेपी कोशिश कर रही है कि कांग्रेस के भीतर चल रहे घमासान का फायदा उठाए और जिन क्षेत्रों पर पकड़ ढीली हो गई है, वहां के कार्यकर्ताओं में जोश भरा जाए। इसी वजह से भरतीय जनता पार्टी इस बार अपना चिंतन शिविर रायपुर से बाहर बस्तर के जगदलपुर में आयोजित कर रही है। हालांकि यह संभव तभी होगा जब बीजेपी में अंदरूनी फूट न पैदा हो।

जगदलपुर में बीजेपी दो दिन का चिंतन शिविर आयोजित कर रही है। इसका उद्देश्य है कि आदिवासी इलाकों पर पार्टी अपनी पकड़ मजबूत करे। इसमें आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर रोडमैप तैयार किया जाए। हालांकि अब तक बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री के चेहरे पर कोई संकेत नहीं दिया है।

उधर कांग्रेस के अंदर का घमासान भी अभी थमा नहीं है। अब राहुल गांधी के रायपुर दौरे का इंतजार हो रहा है। बीते दिनों मुख्यमंत्री बघेल दिल्ली जाकर पार्टी हाई कमान से मिले थे। इसके बाद उन्होंने कहा था कि सरकार पर कोई संकट नहीं है और कुछ दिनों में राहुल गांधी छत्तीसगढ़ आएँगे।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...