कोरोना काल में स्विस बैंकों में कई गुना बढ़ी भारतीयों की जमा पूंजी, गरीब गरीबी स्तर से नीचे और अमीर छू रहा है आसमान

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

नई दिल्ली: कोरोना काल में जहां एक तरफ देश की जनता गरीब हो रही है।अर्थव्यवस्था चरमरा रही है।लोगों के पास ना नौकरी है और ना ही पैसा।साल भर से लोग घर में बैठे हुए हैं ऐसे में जमा किए गए पैसे ही उनका सहारा है।वहीं दूसरी ओर भारतीयों के पैसों से स्विस बैंक भर रहा है।
कोरोना के चलते काम ना होने के कारण मध्यम और निचला वर्ग पूरी तरह से टूट चुका है।वही देश के कुछ जाने-माने अमीर और अमीर होते जा रहे हैं।
न्यूज़ एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार 2020 में स्विट्जरलैंड के विभिन्न बैंकों में भारतीय लोगों और फर्मों द्वारा जमा धन में ज़बरदस्त बढ़त हुई है।2020 में पिछले 13 सालों में सबसे ऊंचा स्तर रहा।
2019 में जहां स्विस बैंकों में भारतीयों का जमा धन सिर्फ 6,625 करोड़ रुपए था वो 2020 में 3 गुना से ज़्यादा बढ़कर
करीब 2.55 अरब स्विस फ्रैंक तक पहुंच गया।जो भारतीय रुपए के अनुसार करीब 20,700 करोड़ रुपये तक पहुंचता है।
यह रिपोर्ट सामने आने के बाद कांग्रेस ने केंद्रीय सरकार को घेरा है। कांग्रेस ने सरकार से श्वेत पत्र जारी करने की मांग की है। पार्टी का कहना है कि सरकार देशवासियों को बताएं कि यह पैसा किसका है।
कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने आरोप लगाया है कि सरकार ने विदेशी बैंकों में जमा काला धन वापस लाने का वादा किया था‌।उसके लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2014 में सत्ता में आने से पहले भाजपा ने दावा किया था कि भारतीयों ने 250 अरब डॉलर स्विट्जरलैंड के बैंकों में छुपाया हुआ है,इस काले धन को वापस लाया जाएगा और हर भारतीय के खाते में 15-15 लाख रुपए डाले जाएंगे।लेकिन पिछले 7 सालों में “मोदी सरकार बातों में महारत और काम में नदारद सरकार” बन गई है।
गौरव वल्लभ ने संवाददाताओं से कहा कि स्विस नेशनल बैंक द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक स्विस बैंक में जमा की गई धनराशि 2019 की तुलना में 2020 में 39% बढ़ी है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने मोदी सरकार से स्विस बैंकों में जमा कराए गए धन का पूरा ब्यौरा मांगा है।उन्होंने कहा है कि सरकार को विदेशों में पैसा जमा कराने वाले लोगों के नाम की सूची जारी करने चाहिए और साथ ही बताना चाहिए कि पिछले 7 सालों में कितना धन देश में वापस आया है और किस-किस देश से यह काला धन वापस लाया गया है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...