कश्मीरी पंडितों का पलायन : बोले Rvish kumar अगर आपने कोई फ़िल्म बनवाई है और नहीं चल रही है तो भारत सरकार और भाजपा से संपर्क करें

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

जम्मू और कश्मीर में हिंदुओं की टारगेट किलिंग के बढ़ते मामलों के बीच घाटी से एक तिहाई प्रवासी कश्मीरी पंडित कर्मचारियों का पलायन हो चुका है इसी साल मार्च में आई फिल्म द कश्मीर फाइल्स में 90 के दशक में हुए कश्मीरी पंडितों के पलायन का दर्द दिखाया गया था। कश्मीर में 32 साल बाद फिर वही नजारा है। आतंकियों द्वारा हिंदुओं की टारगेटेड किलिंग से कश्मीरी पंडितों के साथ-साथ कश्मीरी हिंदुओं का पलायन शुरू हो गया है। अब तक 80 प्रतिशत लोग कश्मीर छोड़कर जम्मू शिफ्ट हो गए हैं।

घाटी में प्रधानमंत्री पैकेज और अनुसूचित जाति जैसी श्रेणियों में करीब 5,900 हिंदू कर्मचारी हैं। इनमें 1,100 ट्रांजिट कैंपों के आवास में, जबकि 4,700 निजी आवासों में रह रहे हैं। पाबंदियों के बावजूद निजी आवास और कैंप में रहने वाले कर्मचारियों में से 80 फीसदी कश्मीर छोड़कर जम्मू पहुंच गए हैं। अनंतनाग, बारामूला, श्रीनगर के कैंप के कई परिवार पुलिस-प्रशासन के पहरे के कारण नहीं निकल पा रहे हैं।

इसी खबर पर पर्तिकिर्या देते हुए वरिष्ठ पत्रकार रविश कुमार ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा अगर आपने कोई फ़िल्म बनवाई है और नहीं चल रही है तो भारत सरकार और भाजपा से संपर्क करें। सरकार फ़िल्म के प्रमोशन में जी जान से लग जाती है। सात-आठ साल में जिन्हें समर्थक बनाया गया है, उनसे फ़िल्म की कमाई भी करवा दी जाएगी। समर्थक केवल महंगाई नहीं ढो रहे हैं बल्कि राजनीतिक फ़िल्मों की कमाई भी सुनिश्चित कर रहे हैं। बशर्ते फ़िल्म उनके हिसाब की हो। लेकिन यह ख़बर है, फ़िल्म नही।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...