फ़र्ज़ी ख़बर दिखाने के लिए सुदर्शन न्यूज़ पर FIR दर्ज,जल्द ही जेल में होगा ये नफरती एंकर

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

नई दिल्ली: हेच स्पीच और मुस्लिम विरोधी खबरें प्रसारित करने को लेकर आए दिन विवादों में रहने वाले सुदर्शन न्यूज चैनल के खिलाफ बीते 18 मई को एक एफआईआर दर्ज की गई है।

न्यूजलॉन्ड्री की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सुदर्शन न्यूज चैनल पर आरोप है कि उसने बीते 15 मई को प्रसारित अपने प्राइम टाइम शो ‘बिंदास बोल’ में रूपांतरित ग्राफिक का इस्तेमाल किया और फेक न्यूज दिखाया था.

‘बेझिझक बोल’ कार्यक्रम इस चैनल के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके खुद प्रस्तुत करते हैं.

सुदर्शन न्यूज चैनल ने फलस्तीन पर इजरायल के हमले का समर्थन करते हुए अपने एक कार्यक्रम में सऊदी अरब के मदीना स्थित अल मस्जिद अन नबावी पर मिसाइल दागते हुए दिखाया था. ऐसा करने के लिए चैनल ने रूपांतरित ग्राफिक का सहारा लिया था.

चैनल के संपादक प्रधान सुरेश चव्हाणके ने शो में कहा था कि इजरायल का समर्थन करें क्योंकि वह अपने दुश्मनों और जिहादियों की सही तरीके से हत्या कर रहा है.

इस सबंध में रजा एकेडमी के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुंबई के एडिशनल पुलिस कमिश्नर सुनील कोल्हे से मुलाकात कर चैनल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी और साथ ही पायधोनी पुलिस चौकी में शिकायत भी दर्ज कराई थी.

इसके अलावा इंडियन सिविल लिबर्टीज यूनियन (आईसीएलयू) ने भी इस शो पर आपत्ति जताई और केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर कहा कि यह कार्यक्रम ‘भड़काऊ, आपत्तिजनक और हिंसक’ है.

इसके बाद 15 सितंबर 2020 को सुप्रीम कोर्ट ने अगले आदेश तक चैनल द्वारा ‘बिंदास बोल’ के एपिसोड का प्रसारण करने पर रोक लगा दी थी. कोर्ट का यह भी कहना था कि यह कार्यक्रम पहली नजर में ही मुस्लिम समुदाय को बदनाम करने वाला लगता है.

15 सितंबर की सुनवाई के दौरान अदालत ने मीडिया रिपोर्टिंग और स्व-नियमन की बात भी उठाई थी, जिसके जवाब में 17 तारीख की सुनवाई में सरकार का कहना था कि पहले डिजिटल मीडिया का नियमन होना चाहिए, प्रिंट-इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए पर्याप्त नियमन मौजूद हैं.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...