नीतीश सरकार की रिपोर्ट से हाईकोर्ट हैरान, 10 दिन में 789 शव जले लेकिन कोरोना से सिर्फ 6 की मौत!

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

कोरोना महामारी के बीच पिछले कुछ दिनों में बिहार में गंगा नदी में मिले शवों ने सभी को झकझोर कर रख दिया है. बक्सर में नदी के किनारे शव मिलने के बाद सरकार की भी बदनामी हुई थी, लेकिन अब शवों पर राज्य सरकार के चौंकाने वाले आंकड़े सामने आ रहे हैं. दरअसल, पटना हाईकोर्ट में सरकार द्वारा पेश किए गए आंकड़े विरोधाभासी हैं. इस विरोधाभास से चीफ जस्टिस संजय क्रोल हैरान हैं।

दरअसल, पटना हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई के दौरान मुख्य सचिव की ओर से सौंपी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि बक्सर में एक मई से 13 मई के बीच छह लोगों की कोरोना से मौत हुई है. लेकिन पटना संभागीय आयुक्त ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बक्सर श्मशान घाट में 5 मई से 14 मई के बीच 789 शवों का अंतिम संस्कार किया गया. अब यह स्पष्ट है कि सामान्य परिस्थितियों में इतने शवों का श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार नहीं किया जाता है, इसलिए बड़ी संख्या में कोरोना मरीजों के श्मशान में पहुंचने की बात हो रही है.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...