1857 के बाद हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार सोनी है दिल्ली की जामा मस्जिद

ऐतिहासिक जामा मस्जिद सोनी है, रमजान का महीना शुरू हो चुका है, लेकिन राजधानी दिल्ली ल्ली में रमजान की रौनक का सबसे बड़ा केंद्र जामा मस्जिद में सन्नाटा पसरा है, यह कोरोना वायरस को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन का असर है।

सोशल मीडिया पर राजधानी दिल्ली की जामा मस्जिद की एक तस्वीर वायरल हो रही है, ड्रोन कैमरे से ली गई इस शानदार तस्वीर ऐतिहासिक जामा मस्जिद की है, यह तस्वीर को देखकर कलेजा मुंह को आने लगता , लेकिन रमजान के महीने में जामा मस्जिद की यह तस्वीर अच्छी लग रही है।

वजह साफ है कि जानलेवा कोरोना वायरस को हराने के लिए देश भर में जारी लॉकडाउन और सामाजिक डस्टेनसनग नियमों का पालन करते हुए मस्जिदों के दरवाजे जनता के लिए बंद कर दिए गए हैं, बहार हाल मस्जिद दिल्ली तस्वीर लोगों को पसंद आ रही है।

इतिहास के पन्नों पलटें तो कुछ यूं पता चलता है कि सदियों बाद ऐसा मौका आया है जब जामा मस्जिद में एक भी नमाज़ी नहीं दिख रहा है। 1857 में स्वतंत्रता आंदोलन की शुरुआत के बाद यह पहला मौका है जब रमज़ान में दिल्ली की जामा मस्जिद सोनी पड़ी है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...