जामिया में फायरिंग करने वाला आज मुस्लिम महिलाओं के अपहरण की धमकी दे रहा है फिर भी जेल में नहीं है: प्रशांत भूषण

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

साल 2020 में CAA और NRC के खिलाफ दिल्ली में किए गए विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों को डराने के लिए जामिया मिलिया इस्लामिया के पास फायरिंग करने वाला युवक एक बार फिर से सुर्खियों में आ गया है।

खबर के मुताबिक, आरोपी युवक ने हरियाणा के पटौदी में एक महापंचायत में हिस्सा लिया। दरअसल हरियाणा के पटौदी में लव जिहाद, जनसंख्या कंट्रोल और धर्मांतरण जैसे मुद्दों पर एक महापंचायत बुलाई गई थी।

जहां उसने महापंचायत में शामिल हुई भीड़ को मुस्लिम महिलाओं के अपहरण करने के लिए उकसाया। इसके साथ ही उसने देश के मुसलमानों पर हमले करने की बात भी कही।

जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि जामिया के पास फायरिंग करने का आरोपी युवक मुसलमानों के खिलाफ कई आपत्तिजनक बातें कह रहा है।

वीडियो में जामिया फायरिंग का आरोपी यह कहता हुआ नजर आ रहा है कि मैं आतंकवादी मानसिकता के लोगों को यह संदेश देना चाहता हूं कि अगर मैं CAA के समर्थन में जामिया जा सकता हूं , तो पटौदी भी दूर नहीं है।

इस दौरान मुसलमानों को लेकर आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए उसने कहा कि जब उन्हें मारा जाएगा तो वे राम-राम चिल्लाएंगे।

इस मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने दिल्ली पुलिस पर निशाना साधा है। प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर लिखा है कि बीते साल CAA के विरोध में प्रदर्शनकारियों के समूह पर ओपन फायरिंग करने वाले आरोपी ने रविवार को पटौदी में आयोजित महापंचायत में हिस्सा लिया।

जहां उसने भीड़ को मुस्लिम महिलाओं को अगवा करने के लिए उकसाया। दिल्ली पुलिस को शर्म आनी चाहिए कि उन्होंने कपिल मिश्रा और इसे जेल से बाहर रखा है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...