प्रधानमंत्री मोदी की साथ कश्मीर के नेताओं की बैठक, कांग्रेस ने रखी पांच बड़ी मांगे, स्टेटहुड जल्दी देने की मांग

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

नई दिल्ली: आज शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि जम्मू कश्मीर को लेकर सर्वदलीय बैठक हुई।जो करीब साढ़े तीन घंटे तक चली।बैठक में सभी दलों के बड़े नेता शामिल हुए।नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर के आठ दलों के 14 नेताओं के साथ बातचीत की।
बैठक में महबूबा मुफ्ती,फारुख अब्दुल्ला,गुलाम नबी आज़ाद समेत आठ नेताओं ने प्रधानमंत्री के समक्ष अपनी बात रखी।
बैठक के बाद जम्मू कश्मीर के बीजेपी अध्यक्ष रविंद्र रैना ने आजतक से बातचीत में बताया कि प्रधानमंत्री ने जम्मू कश्मीर के सभी बड़े नेताओं से बातचीत की जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर मेरे दिल में बसता है।उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि जम्मू कश्मीर के उज्जवल भविष्य के लिए, जम्मू-कश्मीर के नौजवानों के लिए वह हर कार्य करेंगे जो करना आवश्यक है।
प्रधानमंत्री ने जम्मू कश्मीर के सभी नेताओं से आवाहन किया कि सबको मिलकर जम्मू कश्मीर की मज़बूती के लिए कार्य करना चाहिए।उन्होंने कहा कि हमें एक भारत को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिए।
*गुलाम नबी आज़ाद ने रखीं प्रधानमंत्री के सामने पांच मांगे*
बैठक में सभी नेताओं ने अपना अपना पक्ष रखा। बैठक के बाद कांग्रेस के सीनियर नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि हमने बैठक के दौरान कहा कि जिस तरह निर्वाचित प्रतिनिधियों से पूछे बिना स्टेट डिजॉ़ल्व हुआ वो नहीं होना चाहिए था।
उन्होंने कहा कि हमने प्रधानमंत्री के सामने पांच बड़ी मांगी रखी है। जिसमें स्टेटहुड जल्दी देने की मांग तथा कश्मीर के पंडितों को वापस लाने और उनके पुनर्वास में मदद करने की मांग की गई।
साथ ही हमने सभी पॉलिटिकल लोग जो जेलों में बंद हैं उन्हें छोड़ने की मांग की। हमने यह भी कहा कि जम्मू कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा देना चाहिए और विधानसभा चुनाव भी जल्द ही होने चाहिए।
*विदेश मंत्रालय ने दिया पाकिस्तान को दो टूक जवाब*
वहीं दूसरी ओर बैठक में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने पाकिस्तान को दो टूक अंदाज़ में कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है। पाकिस्तान को इसमें दखल नहीं देनी चाहिए। पाकिस्तान को लेकर अभी भी हम अपने पुराने रुख पर कायम है ।पाकिस्तान को आतंकवाद पर लगाम लगानी होगी और बातचीत के लिए माहौल बनाना होगा।
*नरेंद्र मोदी ने किए बैठक को लेकर ट्वीट्स*
बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा कि-
“हमारे लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत एक मेज पर बैठने और विचारों का आदान-प्रदान करने की क्षमता है। मैंने जम्मू-कश्मीर के नेताओं से कहा कि लोगों को,खासकर युवाओं को जम्मू-कश्मीर को राजनीतिक नेतृत्व देना है और यह सुनिश्चित करना है कि उनकी आकांक्षाएं पूरी हों।”


अपने दूसरे ट्वीट में मोदी ने कहा कि-
“हमारी प्राथमिकता जम्मू-कश्मीर में ज़मीनी स्तर पर लोकतंत्र को मज़बूत करना है।परिसीमन तेज़ गति से होना चाहिए ताकि चुनाव हो सकें और जम्मू-कश्मीर को एक चुनी हुई सरकार मिले जो जम्मू-कश्मीर के विकास पथ को ताकत दे।”

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...