ममता बनर्जी ने भतीजे को तृणमूल कांग्रेस का National secretary General नियोजित किया

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता ने अपने भतीजे और सांसद अभिषेक बनर्जी को पार्टी का अखिल भारतीय महासचिव नियुक्त किया है. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने यह जानकारी दी. राष्ट्रीय महासचिव का पद संगठन में दूसरा सबसे महत्वपूर्ण पद है.

तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने पत्रकारों को तृणमूल प्रमुख द्वारा अभिषेक की महासचिव पद पर की गई नियुक्ति की जानकारी दी.

डायमंड हार्बर से सांसद 33 वर्षीय अभिषेक ने कहा कि वह लोगों की सेवा में कोई कसर बाकी नहीं रखेंगे और वह तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो का संदेश देश के हर कोने तक पहुंचाने के लिए काम करेंगे.

बनर्जी ने एक ट्वीट में कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस ने जो नई भूमिका मुझे दी है, उसके लिए आभारी हूं. मैं पार्टी के हर उस कार्यकर्ता का शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने तमाम दिक्कतों के बीच मेरे साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम किया और बंगाल को जीत दिलाई.’

उन्होंने कहा, ‘मैं पार्टी के सभी वरिष्ठ सहकर्मियों के सामने शीश झुकाता हूं, जो परेशानियों के बीच पार्टी और उसके मूल्यों के साथ खड़े रहे.’

इससे पहले दो संगठनात्मक बैठकें हुईं, जिसमें राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर भी आमंत्रित थे.

महासचिव पार्थ चटर्जी ने कोलकाता में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कार्यसमिति ने एक नई नीति पर ध्यान केंद्रित किया है, जिसके तहत पार्टी में एक व्यक्ति एक पद पर रह सकता है और कोर कमेटी के सदस्यों द्वारा निर्णय की विधिवत पुष्टि की गई है.

इस नीति के अनुरूप अभिषेक ने राष्ट्रीय महासचिव बनने के लिए पार्टी युवा विंग के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया.

चटर्जी ने कहा, ‘पार्टी अध्यक्ष के रूप में ममता ने सांसद अभिषेक को अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस का राष्ट्रीय महासचिव बनाया है.’

उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी ने चुनाव प्रचार का नेतृत्व किया और उन्होंने घायल होने के बावजूद 150 से 160 जनसभाओं को संबोधित किया, उसके लिए हमने बैठकों में उन्हें धन्यवाद दिया.’

नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान पैर में चोट लगने के कारण ममता घायल हो गई थीं.

शनिवार को संगठन में कई अन्य बदलाव किए गए, जिसमें सांसद काकाली घोष दस्तीदार को महिला इकाई का प्रमुख बनाया गया और अभिनेत्री से नेता बनीं सायोनी घोष को युवा इकाई का अध्यक्ष बनाया गया.

चटर्जी ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष को पार्टी की राज्य समति का महासचिव नियुक्त किया गया है.

इसी तरह दक्षिण कोलकाता से सांसद माला रॉय को तृणमूल कांग्रेस की ‘बंग जननी वाहिनी’ का अध्यक्ष बनाया गया है. रितब्रता बनर्जी तृणमूल कांग्रेस की श्रम इकाई का नेतृत्व करेंगे.

वरिष्ठ नेता पूर्णेंदु बसु पार्टी के खेत मजदूर प्रकोष्ठ का नेतृत्व करेंगे और फिल्म निर्माता राज चक्रवर्ती को तृणमूल कांग्रेस सांस्कृतिक प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनाया गया है. इसके अलावा आशिम मांझी, आशीष चक्रवर्ती, बेचाराम मन्ना, अर्जुन घोष और दो अन्य को पार्टी की राज्य इकाई में सचिव के रूप में नामित किया गया है.

चटर्जी ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए दलबदलू नेताओं पर कोई चर्चा नहीं हुई और अब वे पार्टी में लौटना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, ‘इस मुद्दे पर चर्चा नहीं की गई और पार्टी प्रमुख बनर्जी बाद में इस पर फैसला लेंगी.’

बाद में पार्टी की कोर कमेटी के सदस्यों के बीच ऑनलाइन बैठक हुई, जिसमें संगठन के नेता, सांसद, विधायक और जिला स्तर के नेता भी मौजूद रहे.

चटर्जी ने कहा कि बैठकों के दौरान नेताओं ने टीकों पर जीएसटी को खत्म करने और सभी के लिए मुफ्त टीकाकरण की मांग करने का फैसला किया है.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

रहें हर खबर से अपडेट जिसे कोई नहीं दिखाता
loading...