पश्चिम बंगाल में बाढ़, ममता बनर्जी ने मोदी सरकार को ठहराया जिम्मेदार, खुद लेने लगीं पानी का जायजा

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

पश्चिम बंगाल के कई जिले भयंकर बाढ़ की चपेट में हैं। बाढ़ की चपेट में आने से करीब ढ़ाई लाख लोग बेघर हो गए हैं। वहीं कम से कम दर्जनभर लोगों की मौत की भी खबर है। सेना राहत और बचाव कार्य में लगी है, साथ ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बचाव कार्य का खुद नेतृत्व कर रही है।

इसी क्रम में मुख्यमंत्री बनर्जी ने पश्चिम मेदिनीपुर जिले में बाढ़ का जायजा लेने के लिए पहुंचीं। घाटल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ममता ने कहा कि वो केंद्र पर प्रेशर बनाने के लिए दिल्ली एक टीम को भेजेगी ताकि परियोजना को जल्द मंजूरी मिल जाए। घाटल मास्टर प्लान के अनुसार, क्षेत्र में नदियों से गाद निकालने, नहरों की मरम्मत और शिलाबाती नदी पर बांध बनाने के लिए कई परियोजनाएं शुरू की जाएंगी।

मुख्यमंत्री ममता ने कहा- यह मानव निर्मित बाढ़ है। घाटल मास्टर प्लान के हमारे अनुरोधों पर मोदी सरकार ध्यान नहीं दे रहा है। हमारे बार-बार अनुरोध, बहरे कानों में पड़ रहे हैं। मैंने इलाके का सर्वे कर लिया है। मैं इस पर एक रिपोर्ट तैयार करूंगी

इसके बाद ममता बनर्जी ने झारग्राम से लौटते समय बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। उनका हेलीकॉप्टर मोयरापुकुर में उतरा, जहां से वह बाढ़ प्रभावित लोगों से मिलने गई. अधिकारियों ने बताया कि इलाके के एक सभागार में होने वाली प्रशासनिक बैठक को रद्द कर दिया गया, क्योंकि उसमें पानी भर गया था।

बता दें कि बंगाल के छह जिलों में बाढ़ की स्थिति विकराल हो रखी है। पिछले सप्ताह लगातार बारिश के कारण पश्चिम बंगाल के कम से कम सात जिलों में बाढ़ आ गई और कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई। लाखों लोगों को बेघर या विस्थापित होना पड़ा है। वहीं दामोदर घाटी निगम (DVC) बांध द्वारा कथित तौर पर अधिक मात्रा में पानी छोड़े जाने को लेकर सत्तारूढ़ TMC और विपक्षी बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया था।

अधिकारियों ने बताया कि गत कुछ दिनों से हो रही बारिश और DVC के बांध से पानी छोड़ने से करीब तीन लाख लोग विस्थापित हुए हैं। वहीं, पूर्वी बर्द्धमान, पश्चिम बर्द्धमान, पश्चिमी मेदिनीपुर, हुगली, हावड़ा और दक्षिण 24 परगना के बड़े हिस्से जलमग्न हो गए हैं।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...