मॉस्को की कोर्ट ने राष्ट्रपति पुतिन के आलोचक एलेक्सी नवेनली के संगठन पर प्रतिबंधित,इसे ‘चरमपंथी’ बताया

अगर इस संगठन का कोई कार्यकर्ता काम करता है तो उसे जेल हो सकती है वहीं अगर कोई नवेलनी के राजनीतिक नेटवर्क को तसदीक़ करता है तो उसे सामान्य पद के लिए रोक लगाया जा सकता है.

सोशल मीडिया पर निर्मित करना हुए नवेलनी ने वादा किया है कि वो ‘पीछे नहीं हटेंगे.’

हालांकि, उन्होंने अपने अनुयायी से यह भी कहा कि उन्हें अपने काम करने का तरीक़ा बदलना होगा.

नवेलनी इस समय जेल में हैं, उन पर आरोप है कि उन्होंने धोखाधड़ी के एक मामले में पैरोल का उल्लंघन किया था. हालांकि, उनका कहना है कि यह आरोप राजनीतिक रूप से प्रेरित हैं.

रूस के संसदीय चुनाव इस साल सितंबर में होने हैं और राय बता रहे हैं कि सत्तारुढ़ दल सहारा खो रहा है. नवेलनी के कुछ समर्थक चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं.

बुधवार को जारी आदेश में कोर्ट ने कहा है कि नवेलनी के क्षेत्रीय नेटवर्क कार्यालयों और उनके एंटी-करप्शन फ़ाउंडेशन को तुरंत सीमित किया जा रहा है.

कोर्ट के बाहर प्रतिनिधि एलेक्सेई ज़ावयारोफ़ ने कहा, “यह पाया गया है कि ये संगठन न केवल सरकारी अधिकारियों के ख़िलाफ़ सूचनाएं प्रसारित करके नफ़रत और दुश्मनी पैदा कर रहा है बल्कि ये चरमपंथी बताया हैं.”

नवेलनी के वकील ने कहा है कि वे इसके ख़िलाफ़ अपील दायर करेंगे

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

रहें हर खबर से अपडेट जिसे कोई नहीं दिखाता
loading...