मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने मुसलमानों से सादगी से ईद मनाने की गुजारिश की

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

नई दिल्ली: हिन्दुस्तान समेत पूरी दुनिया को अपनी चपेट ले चुका कोरोना वायरस यानी कोविड-19 महामारी के बीच मुसलमानों के सबसे बड़े त्यौहार ईद 14 तारिख को मनाया जाएगा। ईद की नमाज़ को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने देश भर के मुसलमानों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है. इस पर देश के प्रमुख मुस्लिम संगठनों ने अपनी सहमति जताते हुए मुसलमानों से ईद का पर्व सादगी से मनाने और मस्जिदों व ईदगाहों आदि में ईद की नमाज अदा करने के लिए सरकार के जरिए जारी की गई गाइडलाइन पर अमल करने की हिदायत दी है.

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के जरिए जारी की गई एडवाइजरी में पैगंबरे-इस्लाम हजरत मोहम्मद साहब का एक कथन लिखा गया है.

इस कथन के अनुसार ‘अगर किसी क्षेत्र में महामारी फैली है तो वहां के लोगों को दूसरे क्षेत्र में नहीं जाना चाहिए और दूसरे क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को जहां पर महामारी फैली है, वहां पर आने से बचना चाहिए.’

बोर्ड का कहना है कि आने वाली ईद के लिए मुसलमानों को बाजारों और दुकानों में खरीदारी के लिए भीड़ नहीं इकट्ठी करनी चाहिए बल्कि ईद बहुत ही सादगी से मनाने की कोशिश करनी चाहिए. इसी तरह ईद की नमाज के लिए भी बड़ी भीड़ इकट्ठा नहीं करनी चाहिए बल्कि बहुत ही कम लोगों के साथ मस्जिदों और ईदगाहों में नमाज अदा करनी चाहिए.

बोर्ड के अनुसार प्रत्येक नमाजी के बीच में कम से कम 1 मीटर की दूरी बनानी चाहिए और मास्क लगाने के लिए पूरी पाबंदी करनी चाहिए. ईद की नमाज के बाद एक दूसरे को दूर से ही मुबारकबाद देनी चाहिए. हाथ मिलाने और गले मिलने की बिल्कुल भी कोशिश न की जाए. इसके साथ ही मुसलमानों को कोविड-19 के लिए केंद्र व राज्य सरकारों के जरिए जारी की गई गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करना चाहिए.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...