नेटवर्क 18 ने कार्टूनिस्ट मंजुल को निलंबित किया ,ट्विटर से नोटिस मिलने के चार दिन बाद

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

नई दिल्लीः ट्विटर से मिले नोटिस के चार दिन बाद आठ जून को लोकप्रिय राजनीतिक कार्टूनिस्ट मनभावन को नेटवर्क 18 से तात्कालिक प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. वह पिछले छह साल से कॉन्ट्रैक्ट आधार पर नेटवर्क 18 से जुड़े हुए थे.

नेटवर्क 18 से जुड़े सूत्रों का कहना है कि ऐसे कोई संकेत नहीं थे कि उन्हें सस्पेंड कर दिया जाएगा और वे अचानक से लिए गए इस फैसले से अचंभित हैं.

बता दें कि नेटवर्क 18 पर मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज का स्वामित्व है.

मालूम हो कि 4 जून को मंजुल ने ट्विटर का एक ईमेल ट्वीट के जरिये सहकारिता किया था, जिसमें कहा गया था कि भारतीय प्रशासन का मानना है कि उनके ट्विटर एकाउंट का कंटेंट भारतीय कानून का उल्लंघन करता है.

ट्विटर ने नोटिस में कहा था कि भारतीय कानून प्रवर्तन ने उनसे (ट्विटर) मंजुल के एकाउंट के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा था.

ट्विटर के इस ईमेल को ट्वीट करते हुए मंजुल ने कैप्शन में कहा था, मोदी जी की सरकार की.’ उन्होंने ट्वीट कर कहा था, ‘शुक्र है मोदी सरकार ने ट्विटर को ये नहीं लिखा कि ये ट्विटर हैंडल बंद करो. ये कार्टूनिस्ट अधर्मी है, संदेहवादी है. मोदी जी को भगवान नहीं मानता.’

उन्होंने कहा, ‘वैसे अगर सरकार बता देती की दिक्कत किस ट्वीट से है तो अच्छा रहता. दोबारा वैसा ही काम किया जा सकता था और लोगों को भी सुविधा हो जाती.’

ईमेल में ट्विटर ने बताया कि वह सिर्फ सरकार की ओर से किए गए आग्रह के बारे में यूजर को सूचित कर रहे हैं और उन्होंने अभी तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई शुरू नहीं की है.

हालांकि, ट्विटर ने मंजुल को चार विकल्प सुझाव दिए थे, जिसमें पहला सरकार के आग्रह को अदालत में चुनौती देना. दूसरा, किसी तरह के प्रतिबंध के लिए सामाजिक संस्था से संपर्क करना, तीसरा स्वैच्छिक रूप से कंटेंट को डिलीट करना (अगर लागू हो) और चौथा कोई अन्य समाधान खोजना है.

ट्विटर से मिले ईमेल को पोस्ट करने के चार दिन बाद 8 जून को मंजुल को नेटवर्क18 से बर्खास्त कर दिया गया.

कई नेताओं ने ट्विटर की ओर से मंजुल को नोटिस जारी करने पर प्रति क्रिया स्वरूप मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्हें निरंकुश शासक करार दिया.

मालूम हो कि कार्टूनिस्ट मंजुल ने कोरोना प्रशासन को लेकर पहले भी मोदी सरकार की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार की आलोचना में कई कार्टून पोस्ट किए हैं, जिसमें महामारी की दूसरी लहर की महत्वपूर्ण वास्तविक चीज उजागर होती है.

मंजुल ने अपने काम में यह उजागर किया है कि देश में स्वास्थ्य देखरेख संबंधी सुविधाओं की कमी की वजह से लोग असहाय हैं.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...