बीजेपी के शासन में संस्कृत ही नहीं, सनातन धर्म को भी नुकसान: सतीश मिश्रा

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा मंगलवार को पार्टी की चुनावी रणनीति का खुलासा करते हुए बीजेपी पर हमलावर रहे। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी अपने दम पर लड़ेेगी। आरोप लगाया कि बीजेपी शासनकाल में प्रदेश के 450 संस्कृत विद्यालयों, महाविद्यालयों को बंद कर दिया गया है। संस्कृत शिक्षकों की नियुक्ति पर रोक है। इससे संस्कृत ही नहीं, सनातन धर्म को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

सिविल लाइंस के एक होटल में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग की संगोष्ठी को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए बसपा महासचिव ने कहा कि भगवान राम के नाम के सहारे सत्ता में झूठे वादे कर आई भाजपा ने चोला बदल लिया है। इस सरकार में ब्राह्मण ही नहीं, व्यापारी, किसान और मजदूर भी परेशान हैं। अराजकता हर तरफ हावी है। महिला उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ी हैं। BSP नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने आरोप लगाया कि बीजेपी जाति-धर्म के नाम पर लोगों को बांटने का काम कर रही है। कहने को रामराज है, लेकिन लोगों को चिह्नित कर हमले किए जा रहे हैं। हाथरस की घटना उदाहरण है, जिससे साफ हो गया कि प्रदेश में दलित समाज सुरक्षित नहीं हैं। कानून व्यवस्था नाम की चीज नहीं रह गई है।

उन्होंने दावा किया कि 2007 से 2012 तक बसपा शासन काल सुशासन के रूप में जाना जाता है। अपराधी जेल के अंदर थे, लोग चैन से थे। सभी को बराबरी का हक दिया गया। अब समय आ गया है कि जनता मंथन करे क्योंकि जनादेश को बदलने के लिए हालिया घटनाओं को याद रखना जरूरी है।
अधिवक्ता, ब्राह्मण गलती सुधारें, हालात बदलेंगे
बसपा राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि अधिवक्ता और ब्राह्मण प्रबुद्ध वर्ग से आते हैं। अब समय आ गया है कि वे मोदी सरकार बनवाने के लिए की गई मदद की भूल सुधारें। प्रबुद्ध जनों ने गलती सुधार कर ली तो हालात ही नहीं बदलेंगे, सत्ता परिवर्तन भी होगा। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन कर रहा है तो लाठियां खा रहा है। नए कानूनों के जरिये किसानों की जमीनें छीनकर उद्योगपतियों को दी जा रही हैं। श्रमिकों के हितों का हनन किया जा रहा है। कहीं किसी शिकायत की सुनवाई नहीं हो रही है। इस जंगलराज में लोग त्राहि-त्राहि कर रही है।

महंगाई की मार से त्राहि-त्राहि, तेल की कीमतों ने बिगाड़ा बजट
बीजेपी पर हमलावर बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्र ने अंत में महंगाई के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा। पेट्रोलियम पदार्थों के साथ खाद्य तेलों की मूल्य वृद्धि ने लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। तेल इस कदर महंगा है कि बारिश के मौसम में लोग पकौड़े नहीं खा पा रहे हैं। महंगाई से जनता त्राहि-त्राहि कर रही है।

त्रिशूल संग भेंट की बाबा विश्वनाथ की तस्वीर
प्रबुद्ध संगोष्ठी के दौरान संयोजक संजय गोस्वामी ने बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा को बाबा विश्वनाथ की तस्वीर और त्रिशूल भेंट किया। इस दौरान हाल में जय परशुराम के नारे भी लगे। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री नकुल दुबे, भूपेंद्र तिवारी, अमरेंद्र बहादुर भारतीय, बसपा महानगर अध्यक्ष चौधरी सईद अहमद, राजेश तिवारी, मोहम्मद अकरम चांद, अमित, आनंद मिश्रा, सूरज पांडेय, आचार्य विमलेश आदि मौजूद रहे। संचालन जिलाध्यक्ष अभिषेक गौतम ने किया।

ब्राह्मण सम्मेलन सिर्फ छलावा : बीजेपी नेता
भाजपा काशी क्षेत्र की मंगलवार को हुई बैठक में बसपा तथा अन्य दलों के ब्राह्मण प्रेम पर कटाक्ष किया गया। संयोजक देवेंद्र नाथ मिश्र ने कहा कि चुनाव से पहले ब्राह्मण सम्मेलन सिर्फ छलावा है। उनका कहना था कि SP और BSP ने ब्राह्मण समाज को हमेशा हाशिए पर रखा लेकिन आज उनमें प्रेम छलक रहा है। फूलचंद दुबे, बृजेश मिश्र, आशुतोष पांडेय आदिन ने बसपा के सम्मेलन पर सवाल उठाए।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...