औरंगाबाद मैं कफ़न पहन कर लोग कर रहे हैं CAA और NRC का विरोध ,कई की हालत घंभीर

नई दिल्ली :नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाओं को प्रदर्शन करते हुए 2 महीने से ज्यादा हो गए हैं. महिलाओं का यह आंदोलन कम होने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है और अब तो शाहीन बाग के प्रोटेस्ट की तर्ज पर देश के दूसरे हिस्सों में भी महिलाएं सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरने पर बैठ गई हैं
तो वहीं मर्द लोग भी इस से पीछे नहीं हट रहे हैं एक तसवीर औरंगाबाद से आ रही है जो काफी विचलित करने वाली है वहाँ के लोग इस काले कानून के खिलाफ कफ़न पहन कर प्रोटेस्ट कर रहे हैं इतिहास में पहली बार इस तरीके के आंदोलन देखने को मिल रहा है..!पर्दशनकारी का सिर्फ एक ही नारा है सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है,
देखना है जोर कितना बाजू -ए- कातिल में है !!
बता दें कि  9 दिसंबर  सोमवार के दिन  केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जब लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 पेश कर रहे थे, उस समय पूर्वोततर के कई राज्यों में लोग इस विधेयक के विरोध में सड़कों पर उतरे हुए थे. असम, त्रिपुरा, मणिपुर, नगालैंड में बीते कई हफ्तों से इस विधेयक का विरोध जारी
Donate to JJP News
अगर आपको लगता है कि हम आप कि आवाज़ बन रहे हैं ,तो हमें अपना योगदान कर आप भी हमारी आवाज़ बनें |

Donate Now

loading...