फ़ैमिली ग्रुप में सियासी ठगी करने वाले रिटायर्ड लोगों को भी ठग लिया दो ठगों ने !

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

सांप्रदायिकता के पारिवारिक और सामाजिक प्रसार में सेवा से रिटायर हुए अंकिलो का बहुत बड़ा हाथ है। व्हाट्स एप के फ़ैमिली ग्रुप के ये रिटायर्ड लोग दिन भर सांप्रदायिक मैसेज फार्वर्ड करते रहते हैं। ज़्यादातर की यही हालत है। सरकार के सारे झूठ को सच साबित करने में इनका बड़ा योगदान है। कोई युवा परेशान हैं कि फ़ैमिली ग्रुप के इन रिटायर्ड लोगों का क्या किया जाए क्योंकि ज़्यादातर किसी पद से रिटायर हुए हैं, चाचा मामा मौसा भी लगते हैं और कहने की ज़रूरत नहीं कि पिता लोग किसी से पीछे रहते हैं। युवा संकट में रहते हैं कि इनसे अचानक अनादर से कैसे बात करें जो हिन्दू मुस्लिम नेशनल सिलेबस के फार्वर्ड प्रचारक बन गए हैं। आप अपनी फ़ैमिली के ग्रुप में चेक करेंगे तो आई टी सेल के हिन्दू मुस्लिम सिलेबस को ठेलने वाले रिटायर्ड लोग ही मिलेंगे।

देश के लोकतांत्रिकता को हिन्दू मुस्लिम रंग में ढालने वाले ये रिटायर्ड लोग इतने समझदार होते तो उनसे इनकी बड़ी ठगी नहीं होती। एक नहीं दस हज़ार रिटायर लोगों को ठग कर दो लोगों ने सौ करोड़ कमा लिए हैं। सबसे पहले ये रिटायर्ड लोग राजनीति में ठगे गए लेकिन ख़ुद ठग बनकर रिश्तेदारों को ठगने लगे। व्यापक तौर पर देखें तो सबसे पहले रिटायर्ड लोगों की ही जमात राजनीति में ठगी गई और रिश्तेदारों को ठगने लगी। अध्ययन करना चाहिए कि ठगे गए इन दस हज़ार रिटायर्ड लोगों में से कितने लोग खुद को सियासी मामलों में सबसे समझदार मानते हैं और हिन्दू मुस्लिम सामग्री का प्रसार करते हैं। ठगे गए लोगों में किस पृष्ठभूमि के लोग ज़्यादा हैं।

 

मैं इंस्टा पर ठग समाचार का संकलन करता हूँ। इन समाचारों से समाज में हज़ारों लोगों की बेवक़ूफ़ी और दो चार ठगों की प्रतिभा का अंदाज़ा मिलता है। इसका भी कि आर्थिक मामलों में लोग कितने नासमझ हैं। उनकी तादाद इतनी है कि ठग उनसे पचास हज़ार से लेकर लाखों रुपये ऐंठ लेता है। ठग समाचार से एक पैटर्न का पता चलता है। इन समाचारों से ठगी की व्यापकता का भी पता चलता है। भारत में हर दिन न जाने कितने लोग ठगे जा रहे हैं, इसकी जनगणना होनी चाहिए।

सोचिए सिर्फ़ दो ठगों ने दस हज़ार लोगों को ठग लिया। जब ठग दो हों तो उनकी प्रतिभा को कभी कम मत आंकिए। ख़ुद को होशियार न समझें।

 

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...