आंदोलन में खालिस्तानी घुसपैठ की बात कहने वाले नेता को SKM ने किया सस्पेंड

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

संयुक्त किसान मोर्चा ने उस किसान नेता को सस्पेंड कर दिया है जिसने आंदोलन में खालिस्तानी घुसपैठ की बात कही थी। उधर, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता टिकैत ने कहा है कि लखनऊ को भी दिल्ली बनाया जाएगा जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही सील होंगे। हम इसकी तैयारी करेंगे।

पंजाब किसान यूनियन के प्रधान रूल्दू सिंह मानसा ने 21 जुलाई को अपने भाषण में कहा था कि आंदोलन में खालिस्तानी घुसपैठ हो रही है। उन्होंने अपने भाषण में कई आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग कर विदेशों में बैठे खालिस्तान समर्थक नेताओं पर आंदोलन को भ्रमित करने का आरोप जड़ा था। संयुक्त किसान मोर्चा को उनकी बात नागवार गुजरी और किसान नेता को सस्पेंड कर दिया गया।

उधर, राकेश टिकैत ने कहा कि 8 महीने आंदोलन करने के बाद संयुक्त मोर्चा ने फैसला किया है कि हम उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब और पूरे देश में जाकर किसानों से अपनी बात रखेंगे और सरकार की नीति व काम को लेकर बात करेंगे। 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत होगी। उसमें अहम फैसले होंगे।

राकेश टिकैत ने हरियाणा के जींद के किसानों की ओर से स्‍वतंत्रता दिवस पर ट्रैक्‍टर रैली करने का समर्थन किया है। उन्‍होंने कहा कि अगर वहां के लोगों ने यह निर्णय लिया है कि वे अपने गांवों में नेताओं को झंडारोहण नहीं करने देंगे तो वे गलत क्या है। नेता झंडारोहण करके क्‍या करेंगे। इसे किसानों को ही करने दीजिए।

टिकैत ने कहा कि ट्र्रैक्‍टर रैली निकालना कोई गलत चीज नहीं है। जींद के लोग क्रांतिकारी हैं। उन्‍होंने 15 अगस्‍त को ट्रैक्‍टर रैली निकालने का सही फैसला लिया है। उन्‍होंने क‍हा कि ट्रैक्‍टर परेड के दौरान ट्रैक्‍टर पर तिरंगा लगा देखना गर्व का क्षण होगा। यह देशभक्ति की भावना को बढ़ावा देता है।

राकेश ने बताया कि मुरादाबाद, अमरोहा और हापुड़ समेत पूरे यूपी से किसान 15 अगस्‍त को दिल्‍ली में आंदोलन स्‍थल पर आएंगे और ट्रैक्‍टर रैली निकालेंगे। उनका कहना था कि सरकार को बता दिया जाएगा कि किसानों की ताकत क्या है। सरकार उनकी बातों को सुन नहीं रही है, लिहाजा आंदोलन को तेज किया जा रहा है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...