यूपी के लॉकल चुनाव में SP गंभीर आरोप भाजपा के लोगों ने मुझे थप्पड़ मारा और बम लेकर आए थे

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

उत्तर प्रदेश में शनिवार, 10 जुलाई को हुए ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान कई जगहों से हिंसा की खबरें आईं. इटावा के बढ़पुरा ब्लॉक में वोटिंग के दौरान फायरिंग और जमकर हंगामा हुआ. आरोप है कि बीजेपी समर्थकों ने एसपी सिटी प्रशांत कुमार पर हाथ उठा दिया. वहीं एसपी सिटी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें वह कहते दिख रहे हैं कि उन्हें थप्पड़ मारा गया है और ‘भाजपा के लोग’ बम लेकर आए हैं.

वायरल वीडियो में एसपी कह रहे हैं,

मुझे थप्पड़ मारा है. ये लोग बम भी लेकर आए थे भाजपा वाले, विधायक और जिलाध्यक्ष.

वीडियो शेयर करते हुए कांग्रेस नेता श्रीनिवास BV ने पूछा कि दिल्ली में बैठी सरकार चुप क्यों है!
@srinivasiyc

क्या है पूरा मामला!
उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के बढ़पुरा ब्लाॅक प्रमुख के चुनाव में मतदान के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हंगामे का आरोप है. आरोप है कि फायरिंग भी की गई. बेकाबू भीड़ ने एसपी प्रशांत कुमार को धक्का देकर गिरा दिया. पुलिस वालों ने भी आंसू गैस के गोले छोड़े. बात नहीं बनी तो हवाई फायरिंग की. SP सिटी प्रशांत कुमार का आरोप है कि उन्हें थप्पड़ मारा गया. बवाल के चलते एक घंटे तक मतदान भी प्रभावित रहा.

समाजवादी पार्टी की ओर से सपा MLC राकेश यादव के भतीजे आनंद यादव टंटी प्रत्याशी थे, जबकि बीजेपी की ओर से गनेश राजपूत. भाजपा विधायक सरिता भदौरिया, जिलाध्यक्ष अजय धाकरे का गृह ब्लाॅक होने से इस सीट पर बीजेपी भी प्रतिष्ठा लगी थी. भाजपा ने चुनाव जीत लिया.

वहीं इस घटना पर समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया
@samajwadiparty

SSP इटावा डॉक्टर ब्रजेश कुमार सिंह ने भीड़ द्वारा फायरिंग और पत्थरबाजी की बात मानते हुए कहा,

बढ़पुरा ब्लॉक में काफी स्मूदली वोटिंग चल रही थी. 500 मीटर का बैरियर पार करके कुछ लोग 200 मीटर तक आ गए थे. फायरिंग भी की गई, पत्थबाजी भी की गई. पुलिसकर्मियों ने भीड़ को तितरबितर किया. इस संबंध में फुटेज भी है, और भी चीजें हैं, सबको देखा जाएगा और उसके मुताबिक कार्रवाई करेंगे… पूरा वीडियो है, देखेंगे कि कौन लोग हैं. मुकदमा भी लिखा जाएगा. कड़ी छानबीन करके कार्रवाई करेंगे… पुलिस ने कोई फायरिंग नहीं की है.

वहीं इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने कहा कि,

गणेश राजपूत को विजयी घोषित किया गया है और प्रमाण पत्र दिया गया है….. उपद्रव की जो बात आप कर रहे हैं उसकी जांच करके कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी और law and order से संबंधित जो भी है उसकी जांच होगी, कार्रवाई होगी.

वहीं सदर विधायक सरिता भदौरिया ने बीजेपी समर्थकों द्वारा हिंसा की बात को सिरे से खारिज करते कहा,

समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी हार्डकोर क्रिमिनल है और वोटिंग के समय उसने हर वोटर को धमकाया. हमारा प्रत्याशी सीधा है, वो चुपचाप बैठा है वहां पर…. हमने जब बात करने का प्रयास किया तो पुलिस ने हमारे साथ जबरदस्ती की… थप्पड़ की बात हमें नहीं पता, हम तो इधर खड़े थे साइड से. अध्यक्ष जी गिरे पड़े थे रोड पर. आप लोगों ने भी देखा होगा. हम और अध्यक्ष जी खड़े हैं, पिट रहे हैं.

ऐसा नहीं कि केवल इटावा से ही हिंसा की खबर सामने आई है….. यूपी में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के दौरान हर जिले से ऐसी ही खबरें सामने आई हैं…

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...