कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी से बोलीं स्वरा भास्कर- आई एम सॉरी मुनव्वर, इस देश ने तुम्हें निराश किया है, मैं शर्मिंदा हूं

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

बेंगलुरू पुलिस ने हिंदू दक्षिणपंथी संगठनों के प्रदर्शन के बीच रविवार को स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के कार्यक्रम को मंजूरी देने से इनकार कर दिया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि, ‘‘हां, हमने अनुमति देने से इनकार कर दिया है, वह आज किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में प्रस्तुति नहीं देंगे।’’ बता दें कि, दक्षिणपंथी संगठनों ने आरोप लगाया है कि फारूकी ने अपने एक कार्यक्रम में हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाया था। बेंगलुरू पुलिस द्वारा उनके शो की अनुमति नहीं दिए जाने के बाद मुनव्वर फारूकी ने स्टैंड-अप कॉमेडी छोड़ने के संकेत दिए है। इस बीच, अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने भी अब फारूकी के समर्थन में एक ट्वीट किया और उनसे माफी मांगी है।

अपने बयानों को लेकर सिर्खियों में रहने वाली अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने मुनव्वर फारूकी के समर्थन में ट्वीट करते हुए रविवार को लिखा, “ये दिल दुखाने वाला और शर्मनाक है कि कैसे हमने एक समाज के रुप में बुली करना सामान्य होने दिया। मुझे माफ करना मुनव्वर।”

वहीं, एक अन्य ट्वीट में अभिनेत्री ने लिखा, “नफरत और कट्टरता की एक परियोजना हमेशा एक मुखर, तर्कसंगत, शिक्षित, आकर्षक, प्रतिभाशाली और मजाकिया ‘अन्य’ से नफरत करती है जो एक विषम जनता के साथ पहचान से परे जुड़ती है .. कोई गलती न करें मुनव्वर, उमर खालिद और ऐसे अन्य मुखर मुसलमान एक बहुत बड़ा खतरा हैं हिंदुत्व को।”

बता दें कि, बेंगलुरू में शो कैंसिल होने पर मुनव्वर फारूकी ने इशारा किया कि वो शायद अब स्टेज पर परफॉर्म नहीं करेंगे। उन्होंने रविवार को अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, “आज बैंगलोर शो कैंसल हो गया (वेन्यू स्थल पर तोड़फोड़ की धमकियों के कारण)। हमने 600 से ज्यादा टिकट बेचे थे।” फारूकी ने बताया कि वो इस शो के जरिए वो दिवंगत एक्टर पुनीत राजकुमार के संगठन के लिए चंदा इकट्ठा करने जा रहे थे।

फारूकी ने आगे लिखा कि उन्हें उस जोक के लिए जेल भेज दिया गया, जो उन्होंने कभी किया ही नहीं। उन्होंने लिखा, “जो जोक मैंने किया ही नहीं, उसके लिए जेल भेज देने से लेकर मेरे शो कैंसल करने तक, जिसमें कुछ भी गलत नहीं था, ये गलत है। इस शो को लोगों से बहुत प्यार मिला है। हमने पिछले दो महीनों में 12 शो कैंसल किए हैं, क्योंकि ऑडियंस और वेन्यू को लेकर धमकियां मिल रही थीं।”

फारूकी ने अपने पोस्ट में आगे लिखा, “इनकी नफरत का बहाना बन गया हूं, हंसा कर कितनों का सहारा बन गया हूं, टूटने पर इनकी ख्वाहिश होगी पूरी, सही कहते हैं, मैं सितारा बन गया हूं।” फारूकी ने लिखा कि अब यही अंत है। उन्होंने लिखा कि उनका इतना ही वक्त था और अब वो थक गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, फारूकी ने रविवार शाम ‘डोंगरी टू नोव्हेयर’ प्रस्तुति देने की योजना बनायी थी। नयी दिल्ली के कर्टेन्स कॉल्स इवेंट के विशाल धूरिया और सिद्धार्थ दास ने बेंगलुरु में इस कार्यक्रम का आयोजन किया था। बहरहाल, श्रीराम सेना और हिंदू जनजागृति समिति समेत विभिन्न दक्षिणपंथी संगठनों ने हास्य कलाकार के खिलाफ बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त को शिकायत दी थी। उन्होंने हास्य कलाकार पर हिंदू देवी-देवताओं का कथित तौर पर अपमान करके हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है।

शहर में अशोकानगर पुलिस थाने के निरीक्षक ने शनिवार को कार्यक्रम के आयोजकों को एक पत्र लिखकर उनसे कार्यक्रम रद्द करने को कहा क्योंकि हास्य कलाकार एक विवादास्पद शख्स है। निरीक्षक ने अपने पत्र में कहा, ‘‘ऐसा समझा जाता है कि मुनव्वर फारूकी विवादित शख्स हैं…कई राज्यों ने उनके हास्य कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। मध्य प्रदेश के इंदौर में तुकोजी पुलिस थाने में उनके खिलाफ एक मामला दर्ज है।’’

उन्होंने कहा कि कई संगठन उनके कार्यक्रम का विरोध कर रहे हैं। इस कार्यक्रम से अशांति पैदा हो सकती है, शांति और सौहार्द्र भंग हो सकता है तथा कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा हो सकती है। पत्र में लिखा गया है, ‘‘अत:, ऐसा सुझाव दिया जाता है कि आपको फारूकी का स्टैण्डअप हास्य कार्यक्रम रद्द कर देना चाहिए।’’

बता दें कि,इंदौर पुलिस ने धार्मिक भावनाओं को कथित तौर पर आहत करने के मामले में फारुकी को इस साल गिरफ्तार किया था और वह करीब एक महीने तक जेल में रहे थे। उन्हें मामले में उच्चतम न्यायालय से जमानत मिलने के बाद सात फरवरी को इंदौर केंद्रीय कारागार से रिहा किया गया। इस दौरान देश के कई दिग्गज कलाकारों ने उनके समर्थन भी किया था। (इंंपुट: भाषा के साथ)

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...