”सरकार मारे गए फैसल के परिवार को 50 लाख रुपये और परिवार के एक सदस्य को रोजगार मुहैया करे”: पीस पार्टी

प्रतापगढ़ : भाजपा सरकार में अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं हैं. उन्हें समय-समय पर बेवजह पीट-पीट कर मार डाला जा रहा है.कार्रवाई के नाम पर आरोपियों को खुली छूट दी गयी है। उन्नाव जिले के बांगर माओ सब्जी विक्रेता फैसल की पीट-पीटकर हत्या एक निंदनीय और अक्षम्य अपराध है। जब जनता की रक्षा करने वाले ही अत्याचारी बन जाते हैं तो शासन पर निश्चित ही प्रश्नचिह्न लग जाता है। सरकार को फैसल की हत्या करने वाले आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए और उसके परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा और एक व्यक्ति को रोजगार देना चाहिए। पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अयूब सर्जन ने एक प्रेस विज्ञप्ति में ये विचार व्यक्त किए।

डॉ. अयूब सर्जन ने कहा कि समय-समय पर देश के अलग-अलग हिस्सों में मॉब लिंचिंग जैसी घटनाएं होती रहती हैं। देश में इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाले चरमपंथियों में जोश है क्योंकि उनके खिलाफ कोई सख्त कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है। अब भी सरकारी तंत्र सरकार की साम्प्रदायिक मंशा के अनुरूप काम कर रहा है, जिसका एक उदाहरण है मासूम गरीब फैसल की हत्या. आरोपी के खिलाफ कार्रवाई भी की जाए तो भी मामला इतना निष्प्रभावी होता है कि उसे जल्द ही कोर्ट से रिहा कर दिया जाता हैं।

हम धर्म के आधार पर राजनीति नहीं करते, बल्कि बिना किसी भेदभाव के सबके लिए न्याय की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि पीस पार्टी ने भविष्य में इस तरह की घटनाओं पर प्रतिबंध लगाने और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और मारे गए फैसल के परिवार को 50 लाख रुपये और एक व्यक्ति को रोजगार देने की मांग की।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

रहें हर खबर से अपडेट जिसे कोई नहीं दिखाता
loading...