जिस सब्जी वाले ने परिवार के खातिर स्कूल तक छोड़ दिया ‘पुलिस ने उसे ही मार’ डाला,

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

उन्नाव: उन्नाव के पुलिसकर्मियों द्वारा कथित तौर पर, पीट-पीटकर मार डाले गए 17 वर्षीय सब्ज़ी विक्रेता, फैसल हुसैन के परिवार का कहना है, कि वो उनका अकेला कमाने वाला था, और 12 साल की उम्र से ये काम कर रहा था.

हुसैन को पुलिस ने कथित रूप से शुक्रवार को, उन्नाव के बंगारमऊ- इलाक़े में, सब्ज़ी मंडी स्थित उसकी दुकान से, कोविड-19 लॉकडाउन नियमों की अवहेलना के आरोप में उठा लिया था.

फैसल के परिवार का आरोप है, कि पुलिस ने उसकी पिटाई की, और उसे थाने ले गई, जहां बाद में वो मृत पाया गया.

फैसल के कज़िन सलमान ने दिप्रिंट को बताया, ‘फैसल सिर्फ बाज़ार में सब्ज़ियां बेच रहा था. एक पुलिस वाला आया और कुछ बहस होने के बाद, उसने फैसल को थप्पड़ मार दिया’. फिर उन्होंने उसे खींचकर अपनी बुलेट (बाइक) पर बिठाया, और पुलिस थाने ले गए, जहां उन्होंने उसे पीट-पीटकर मार डाला’.

सब्ज़ी मंडी के एक सब्ज़ी विक्रेता ने, नाम न बताने की शर्त पर बताया, ‘फैसल नमाज़ के बाद मंडी आया था. पुलिस ने उसकी पिटाई की, और उसे थाने ले गई, जहां उसकी मौत हो गई. उसके दोस्त सरताज ने हमें बताया, कि थाने में उसे (फैसल) बुरी तरह यातनाएं दी गईं. हमसे उस वारदात की ख़बर मिलने के बाद, सूफियान (छोटा भाई) और सरताज अस्पताल गए’.

स्थानीय लोगों और फैसल के फैमली वालों ने, पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए, उन्नाव-बंगारमऊ-हरदोई मार्ग को बाधित कर दिया, जिसके बाद सिपाहियों विजय चौधरी और सीमावत, तथा होम गार्ड सत्य प्रकाश के खिलाफ, शुक्रवार को हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया.

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...