जम्मू-कश्मीर पर प्रधानमंत्री मोदी की बैठक को बताया नाटक: विदेश मंत्री महमूद कुरैशी

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

प्रधानमंत्री मोदी की कश्मीर बैठक पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में जम्मू कश्मीर पर हुई बैठक से पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है. विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बैठक को नाटक बताया है. प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू कश्मीर में भविष्य की रणनीति का खाका तैयार करने के लिए केंद्र शासित प्रदेश के 14 नेताओं के साथ अहम बैठक की थी. जिस पर पाकिस्तान अपनी नजरें गड़ाए हुआ था. महमूद कुरैशी ने कहा, नई दिल्ली में कश्मीर पर हुई बैठक एक नाटक था, यह एक PR excercise थी. यह भी माना गया कि कश्मीर दिल और दिल्ली दोनों से दूर है.

महमूद कुरैशी ने कहा, कि इस बैठक से कुछ भी हासिल नहीं हुआ है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जब से धरा 370 हटा है, तब से भारत और प्रधानमंत्री मोदी की छवि को नुकसान पहुंचा है. इस बैठक के जरिए इसी बिगड़ी छवि में सुधार करने की कोशिश की गई है. बता दें बीते कुछ समय से पाकिस्तान लगातार कश्मीर का मुद्दा उठा रहा है….. भारत ये साफ कर चुका है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और वह किसी अन्य देश द्वारा भारत के आंतरिक मामलों में किसी भी दखल को कतई बर्दाश नहीं करेगा. बावजूद इसके पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा.

कई नेता हुए थे शामिल
दिल्ली में हुई इस बैठक में पूर्ववर्ती राज्य जम्मू कश्मीर के चार पूर्व मुख्यमंत्रियों और चार पूर्व उपमुख्यमंत्रियों ने हिस्सा लिया. नेशनल कॉन्फ्रेंस के संरक्षक फारूक अब्दुल्ला, उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महूबबा मुफ्ती, पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तारा चंद और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर बैठक में शामिल हुए.

गुरुवार को हुई थी बैठक
इनके अलावा इस बैठक में पीपुल्स कांफ्रेंस के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री मुजफ्फर हुसैन बेग, पैंथर्स पार्टी से भीम सिंह, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के मोहम्मद यूसुफ तारिगामी सहित कई अन्य नेता भी शामिल हुए. बैठक का आयोजन गुरुवार को प्रधानमंत्री के आवास पर किया गया था. सर्वदलीय बैठक करीब साढ़े तीन घंटे तक चली. बैठक शाम को करीब 6:30 बजे खत्म हुई. जिसमें कश्मीर की मौजूदा स्थित और उसके भविष्य को लेकर चर्चा की गई.

 

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...