हैती के लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार के विरोध में अमेरिका के विशेष राजदूत ने दिया इस्तीफा

किसी भी वीडियो को डाउनलोड करें बस एक क्लिक में 👇
http://solyptube.com/download

हैती में अमेरिका के विशेषक राजदूत ने हैती के अप्रवासियों और शरणार्थियों के बहिष्कार के विरोध में इस्तीफा दे दिया है।

वरिष्ठ राजनयिक डेनियल फूटे ने एक पत्र के जरिए अपनी बात रखी है… उन्होंने कहा कि, भूकंप और राजनीतिक अस्थिरता से भागे लोगों को वापस भेजने का निर्णय अमानवीय था।

पिछले हफ्ते, अमेरिका ने टेक्सास सीमावर्ती शहर से निर्वासन के लिए उड़ानें शुरू कीं, जहां लगभग 13,000 लोग एकत्र हुए थे। ये लोग 37 डिग्री सेल्सियस तापमान पर तेज धूप में एक कैंप में थे। अधिकारियों को उन्हें भोजन और पानी उपलब्ध कराने में भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

रविवार तक अमेरिका मेक्सिको से लगी सीमा पर टेक्सास के एक कैंप से करीब 1400 लोगों को हैती लौटा चुका है।

अपने त्याग पत्र में फूटे ने कहा कि हैती एक बर्बाद देश बन गया है जो हजारों निर्वासित अप्रवासियों का बोझ नहीं उठा सकता है। जबकि खुद भुखमरी की स्थिति है।

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन साकी ने एक रिपोर्टर समारोह में एक सवाल का जवाब देते हुए कहा, विशेष राजदूत फूटे के पास अपने कार्यकाल के दौरान आव्रजन के बारे में अपनी चिंताओं को व्यक्त करने के पर्याप्त अवसर थे… लेकिन उन्होंने ऐसा कभी नहीं किया।

प्रवक्ता साकी ने भी उन तस्वीरों पर कमेंट किया जो बाइडेन प्रशासन पर सवाल उठा रही हैं।

उन्होंने कहा, घोड़ों पर सवार अमेरिकी अधिकारियों की जो तस्वीरें सामने आई हैं, वे प्रवासियों को भगाने वाली हैं. और अब इस क्षेत्र में घोड़ों का उपयोग नहीं किया जाएगा।

इस हफ्ते की शुरुआत में, एएफपी फोटोग्राफर (AFP Photographer) द्वारा खींची गई एक तस्वीर ने दुनिया भर में हलचल मचा दी थी। इन तस्वीरों की तुलना गुलामी और अश्वेत लोगों के साथ ऐतिहासिक दुर्व्यवहार से की गई थी…. इन तस्वीरों ने राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन पर दबाव बढ़ा दिया है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

अब हमारी ख़बरें पढ़ें यहाँ भी
loading...