उत्तर प्रदेश प्रशासन को खानी पड़ी अपने मुंह की, हाथरस पीड़िता के साथ बलात्कार ना होने का दावा झूठा निकला

उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना ने जहां एक तरफ देश को हिला कर रख दिया है वहीं दूसरी तरफ पुलिस और प्रशासन लगातार इस बात का दावा कर रहा है कि लड़की के साथ बलात्कार हुआ ही नहीं था। पर अब लड़की की मेडिको लीगल रिपोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस प्रशासन की इस दावे की धज्जियां उड़ा दी है। रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि लड़की के साथ बलात्कार हुआ था।
द वायर में छपी रिपोर्ट के मुताबिक अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के डॉक्टरों की टीम द्वारा तैयार की गई मेडिको लीगल रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि पीड़िता के योनि में कंप्लीट पेनिट्रेशन हुआ था। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उसके साथ बल का प्रयोग किया गया था।
54 पेज की रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पूरी तरह बलात्कार की पुष्टि हुई है। साथ ही पीड़िता का गला भी दुपट्टे से दबाया गया था। जिसकी वजह से उसके चारों हाथ पैर शिथिल हो गए थे। और नीचे का हिस्सा सुन्न पड़ गया था।
रिपोर्ट के मुताबिक न्यूरो सर्जन विभाग के प्रमुख डॉ एम एफ हुदा ने 22 सितंबर को लिखा था कि रोगी की स्थिति बेहद नाज़ुक है इसलिए फौरन तौर से उसका मजिस्ट्रेट के सामने ब्यान कराए कराया जाना चाहिए। उसी दिन मजिस्ट्रेट के सामने लड़की ने बताया था कि उसके साथ बलात्कार हुआ है। इस रिपोर्ट में बलात्कार के चार अभियुक्तों के नाम भी दर्ज हैं।
उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने अपने ब्यान में कहा था कि फॉरेंसिक रिपोर्ट में शुक्राणु और अंडाणु नहीं मिले हैं इसलिए इस बात की पुष्टि नहीं होती कि बलात्कार हुआ था।
इस पर जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर हमज़ा मलिक का कहना है कि कथित बलात्कार 14 सितंबर को हुआ था फॉरेंसिक रिपोर्ट 22 सितंबर को तैयार की गई। ऐसे में शुक्राणु पाए जाने की कोई गुंजाइश नहीं है क्योंकि शुक्राणु का जीवनकाल 2 से 3 दिन का ही होता है।
वहीं दूसरी और कानून के जानकारों का यह भी कहना है कि पीड़िता का मरने से पहले दिया गया ब्यान मेडिकल रिपोर्ट से भी ज़्यादा मायने रखता है और पीड़िता ने अपने ब्यान में कहा था कि उसके साथ बलात्कार हुआ है।

Donate to JJP News
अगर आपको लगता है कि हम आप कि आवाज़ बन रहे हैं ,तो हमें अपना योगदान कर आप भी हमारी आवाज़ बनें |

Donate Now

loading...