माया कैलेंडर ने किया दवा ,यह दुनिया 21 जून, 2020 को समाप्त हो जाएगी

न्यूयोर्क :वैश्विक कोरोना वायरस, भूकंप, टिड्डियों और प्राकृतिक आपदाओं की तबाही ने सदियों पुरानी माया सभ्यता के कैलेंडर (Mayan calendar) को एक बार फिर से बहस का विषय बना दिया है,माया सभ्यता के कैलेंडर (Calendar of Mayan civilization_)ने यह दावा किया है कि दुनिया 21 जून, 2020 को समाप्त हो जाएगी। सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर ब्रिटिश मीडिया में चल रही अफवाहों की रिपोर्ट में कहा गया है कि प्राचीन माया सभ्यता के कैलेंडर के अनुसार अगले सप्ताह प्रलय का दिन आ रहा है।

इंडिया डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, माया सभ्यता द्वारा छोड़े गए एक विवादास्पद कैलेंडर ने 8 साल पहले दावा किया था कि 21 दिसंबर, 2012 को न्याय दिवस आ रहा है वह झूठ निकला था ,लेकिन अब कह रहा है उसका मतलब 2020 था, 2012 नहीं। इस कैलेंडर के अनुसार, अगले हफ्ते, 21 जून, दुनिया का आखिरी दिन होगा, जिसके बाद सबकुछ खत्म हो जाएगा।(world is slated to end on June 21, 2020)

खगोलविदों और वैज्ञानिकों ने जॉर्जियाई, जूलियन और माया सभ्यताओं के कैलेंडर की तुलना की है और अनुमान लगाया है कि प्राचीन माया कैलेंडर के अनुसार, दुनिया के अंत की वास्तविक तारीख 21 जून, 2020 है। षड्यंत्र के सिद्धांतकार सोशल मीडिया पर दावा कर रहे हैं कि 21 दिसंबर, 2012 को दुनिया के अंत की भविष्यवाणी सही थी क्योंकि अगर माया कैलेंडर की तुलना जॉर्जियाई और जूलियन कैलेंडर से की जाती है, तो यह 2020 नहीं बल्कि 2012 हो जाता है।

2012 में एक समान साजिश सिद्धांत उभरा था , लेकिन माया सभ्यता का अध्ययन करने वाले विशेषज्ञों ने उस समय कहा था कि कैलेंडर के अंत का मतलब दुनिया का अंत नहीं था, बल्कि बुढ़ापे का अंत था। इस षड्यंत्र के सिद्धांत के आठ साल बाद, यह एक बार फिर यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में सोशल मीडिया पर तेजी से फैल रहा है।

Donate to JJP News
अगर आपको लगता है कि हम आप कि आवाज़ बन रहे हैं ,तो हमें अपना योगदान कर आप भी हमारी आवाज़ बनें |

Donate Now

loading...