यूसुफ ने एक करोड़ रुपए ‘ देकर एक भारतीय युवक को यूएई में मौत की सज़ा से बचाया।

परोपकारी कार्यों को लेकर पूरी दुनिया में पहचाने जाने वाले मशहूर बिजनेसमेन एमए यूसुफ अली ने एक करोड़ रुपए की ‘ब्लड मनी’ देकर एक भारतीय युवक को यूएई में मौत की सज़ा से बचाया।

दरअसल, केरल के रहने वाले कृष्णन की कार के हादसे में एक बच्चे की मौत हो गई थी। इस मामले में यूएई की सुप्रीम कोर्ट ने उन्हे मौत की सजा सुनाई थी। घटना के बाद से ही कृष्णन के परिजन लगतार उसकी रिहाई की कोशिशों में थे। लेकीन मृतक बच्चे के परिजनों के सूडान लौट जाने से बातचीत का रास्ता बंद हो गया था।

ऐसे में कृष्णन के परिजनों ने लूलू ग्रुप के चेयरमैन से संपर्क किया और उनके कोशीशे रंग लाई। उन्होने जनवरी, 2012 में पीड़ित परिवार से संपर्क किया और परिवार से माफ करने की गुजारिश की। उसके बाद यूसुफ अली ने 5 लाख दिरम (1 करोड़) का अदालत में मुआवजे के तौर पर भुगतान किया। जिससे कृष्णन की रिहाई हो पाई।

लुलु समूह के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि कृष्णन की रिहाई से संबंधित सभी का’नूनी प्रक्रियाएं गुरुवार को पूरी कर ली गई हैं और उनके जल्द ही केरल में अपने गृहनगर वापस जाने की उम्मीद है, जिससे उनके और उनके परिवार के लिए नौ साल की पीड़ा समाप्त हो जाएगी।

अबू धाबी स्थित लुलु समूह, जो लुलु हाइपरमार्केट और शॉपिंग मॉल का मालिक है, मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्र (एमईएनए) में शीर्ष खुदरा विक्रेताओं में से एक है।

Donate to JJP News
जेजेपी न्यूज़ को आपकी ज़रूरत है ,हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं,इसे जारी रखने के लिए जितना हो सके सहयोग करें.

Donate Now

रहें हर खबर से अपडेट जिसे कोई नहीं दिखाता
loading...